भारत में घरेलू विमानों का किराया 30 फीसदी तक बढ़ा दिया गया है. सरकार ने अलग-अलग रूट के लिए तय किए गए हवाई किराए का प्राइस बैंड भी बढ़ा दिया है. वहीं एयरलाइन कंपनियों पर प्री-कोविड लेवल के मुकाबले अधिकतम 80 फीसदी क्षमता की सीमा को 31 मार्च 2021 तक के लिए बढ़ा दिया गया है.

अब आपको घरेलू विमानों में यात्रा करने पर जेब ज्यादा ढीली करनी पडेगी. एयरलाइंस के न्यूनतम किराए में 10 फीसदी और अधिकतम किराए में 30 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है. नए प्राइस बैंड के मुताबिक दिल्ली-मुंबई रूट पर इकॉनोमी क्लास में अब एक ओर का किराया 3,900-13,000 रुपए के रेंज में होगा. पहले यह 3,500-10,000 रुपए के रेंज में था. हालांकि इसमें एयरपोर्ट का यूजर डेवलपमेंट शुल्क, यात्री सुरक्षा शुल्क (घरेलू मार्ग पर 150 रुपए) और GST शामिल नहीं हैं.

आपको बता दें कि मई 2020 में उड्डयन मंत्रालय ने घरेलू विमानों को सात श्रेणियों में बांट था. इसके तहत 40 मिनट, 40-60 मिनट, 60-90 मिनट, 90-120 मिनट, 120-150 मिनट, 150-180 मिनट, 180-210 मिनट की यात्रा अवधि के आधार पर किराए तय किए गए थे.