किसानो की हुई महापंचायत पर अलीगढ़ जिला प्रशासन ने की कार्यवाही, प्रशासन ने 5 से 6 हजार अज्ञात लोगों सहित राष्ट्रीय लोक दल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी और अजय हुड्डा पर केस दर्ज. कोरोना महामारी अधिनियम के तहत हुई कार्यवाही. 9 फरवरी को तहसील इगलास इलाके के गांव मुरबार के मैदान मे केंद्र सरकार द्वारा किसानो के खिलाफ लाए गए बिल को लेकर हुई थी. महापंचायत जिसमें राष्ट्रीय लोक दल के उपाध्यक्ष के साथ अजय हुड्डा ने भी की थी शिरकत.

अलीगढ़ के थाना गोंडा के मुरबार में मंगलवार को किसान पंचायत आयोजित करने के फेर मे राष्ट्रीय लोक दल के नेता फंस गए हैं. पुलिस ने बिना अनुमति पंचायत के आयोजन को लेकर राष्ट्रीय लोक दल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी सहित पांच से छह हजार अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है. यह मुकदमा निषेधाज्ञा उल्लंघन एवं महामारी अधिनियम के तहत दर्ज किया है. मुकदमा थाना गोंडा के एएसआई सोहन वीर सिंह की ओर से एक राय होकर निषेधाज्ञा उल्लंघन करने, महामारी अधिनियम आदि के तहत दर्ज किया गया है.

दरअसल राष्ट्रीय लोक दल के तत्वाधान में पूर्व जिला अध्यक्ष राम बहादुर चौधरी की देखरेख में मुरवार के पैंठ मैदान में यह पंचायत आयोजित की गई थी, जिसमें राष्ट्रीय लोक दल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी के अलावा स्थानीय नेता व काफी संख्या में भीड़ थी. जिसके बाद यह मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने धारा 147, 188, 269,270 व 3 के तहत मामला दर्ज किया है.

वहीं अलीगढ़ के पुलिस अधीक्षक अपराध डॉ अरविंद ने बताया कि गोंडा में 9 तारीख को काफी लोग इकट्ठे होकर के एक सभा किए था जिसकी अनुमति नहीं थी. उन्होंने बिना नियमानुसार सभा को किया था और बिना अनुमति के सभा की थी. वर्तमान में कोविड चल रहा है. उसमें 144 के उल्लंघन के संबंध में एक मुकदमा पंजीकृत किया गया है जिसमें 21 से 22 लोग नामजद है बाकी लोग अज्ञात है. इनमें सभी बिंदुओं पर जांच हो रही है और जिस तरह से तथ्य सामने आएंगे उसी हिसाब से कार्रवाई की जाएगी.