झोपड़ी में रहकर आफिसर बनने की तमन्ना अगर आपके मन में है तो तैयार हो जाइए. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सबके लिए बड़का दरवाजा खोल दिया है. आपकी जाति नहीं प्रतिभा के आधार पर अवसर मिलेगा. मजबूती से प्रतियोगी परीक्षाओं में बेहतर परिणाम लाने के लिए प्रतिभागियों को अभ्युदय योजना के तहत निःशुल्क कोचिंग दी जायेगी. इस योजना का शुभारंभ बसंत पंचमी से किया जा रहा है.

बता दें कि यूपी सरकार ने प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए पहली बार सबके लिए दरवाजा खोल कर युवा पीढ़ी को ऊंची उड़ान का अवसर प्रदान किया है. गरीब परिवार के बच्चों के अधिकारी बनने का सपना अब साकार होगा. उनके सपने अब बुलंद हौसलों के पंख लगा कर आइएएस और पीसीएस समेत तमाम प्रतियोगी परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन कर लक्ष्य को प्राप्त करेंगे. इसके लिए उनके परिवार को कोचिंग के लिए अब अपना खेत मकान गिरवी रखना नहीं पड़ेगा.

प्रदेश सरकार ने सब जाति के लिए अभ्युदय योजना में दरवाजा खोल दिया हैं. अभ्युदय योजना में समाज के हर वर्ग के प्रतिभागी छात्र छात्राओं को समान अवसर प्राप्त होगा. इस योजना का शुभारंभ बसन्त पंचमी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा किया जाएगा. प्रदेश के सभी मंडलों पर यह योजना लागू होगी. इस योजना को मूर्त रुप देने के लिए नगर के पुलिस लाइन रोड़ स्थित जुबली इंटर कालेज में क्लास चलाया जाएगा. इसके लिए आन लाइन पोर्टल के माध्यम से नामांकन कराया जा सकता है. उत्साही छात्रों की सुविधा के लिए यूट्यूब और फेसबुक के माध्यम से भी उन्हें मटेरियल उपलब्ध कराया जाएगा.

सरकारी सेवा में आने के लिए उत्साहित एनडीए, सीडीएस, अर्धसैनिक बल, केंद्रीय पुलिस बल, बैंक, एसएससी, बीएड, टीईटी समेत तमाम प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी सरकार के माध्यम से योग्य और अनुभवी शिक्षकों के द्वारा कराया जाएगा. वर्चुअल कक्षाएं भी इस केंद्र के माध्यम से नि:शुल्क मार्गदर्शन प्रदान करते हुए किया जाएगा. अब वर्चुअल क्लास के माध्यम से अब प्रतिभावान छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए घर से दूर नहीं जाना पड़ेगा.