देश में पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से आम जनता को राहत मिलती नजर नहीं आ रही है. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतें हर दिन अपना ही रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं. जहां देश में आज लगातार तीसरे दिन पेट्रोल-डीजल की कीमत में इजाफा हुआ है. राजधानी दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत में 25 पैसे प्रति लीटर और डीजल में 30 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है, वहीं अन्य शहरों में भी कीमतें काफी बढ़ी हैं. कई शहरों में पेट्रोल 90 रुपये पार हो गया है. अगर मुंबई की बात करें तो वहां पेट्रोल 94 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच गया है.

बता दें कि इस साल अभी तक पेट्रोल और डीजल की कीमतों में चार रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है. इस बीच वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड की कीमत 60 डॉलर प्रति बैरल से अधिक हो गई है, जो पिछले एक साल में सबसे अधिक है. भारत में जहां पेट्रोल की कीमत करीब 100 रुपये के करीब पहुंच चुकी है, वहीं कुछ देश ऐसे भी हैं जहां ये पानी से भी कम कीमत पर बिक रहे हैं. राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल अब शतक के और करीब पहुंच चुका है.

हम आपको आज उन देशों के बारे में बता रहे हैं, जहां पानी से भी सस्ता पेट्रोल है. हालांकि विश्व में कई सारे देश ऐसे भी हैं जहां पर पेट्रोल-डीजल को खरीदने के लिए आपको एक लीटर पानी की बोतल से भी कम कीमत चुकानी होगी. विश्व के तीन देशों वेनेजुएला, ईरान और अंगोला में पेट्रोल की कीमत 20 रुपये लीटर से भी कम है. वेनेजुएला में पेट्रोल की कीमत 4 जनवरी को 1.46 रुपये प्रति लीटर थी. वहीं ईरान में पेट्रोल की कीमत 4.24 रुपये और अंगोला में 17.88 रुपये है.

वहीं भारत के पड़ोसी देशों की तुलना में भारत में पेट्रोल की कीमत सबसे ज्यादा है. जहां पड़ोसी देशों की बात करें तो चीन में 72.62 रुपये, नेपाल में 67.41 रुपये, अफगानिस्तान में 36.34 रुपये, बर्मा में 43.53 रुपये, पाकिस्तान में 48.19 रुपये, भूटान में 49.56 रुपये और श्रीलंका में 62.79 रुपये प्रति लीटर है. जबकि भारत में करीब 95 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा है.

बता दें कि पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर बुधवार को राज्यसभा में पेट्रोल-डीजल का मुद्दा उठा था. इसपर पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि ‘पिछले 300 दिनों के अंदर 60 दिन ऐसे हैं, जब कीमतें बढ़ाई गई थीं, पेट्रोल की कीमतें 7 दिन घटाई गईं, वहीं डीजल के दाम 21 दिन घटाए गए. लगभग 250 दिन ऐसे हैं, जब कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया गया. यह कहकर कैंपेन करना कि पेट्रोल-डीजल के दाम ऑल-टाइम हाई हैं, असंगत है.’