शेयर बाज़ार में पिछले 6 दिनों से जारी तेजी आज यानी की मंगलवार को थम गई. मंगलवार को सेंसेक्स ने 51,349 पर ओपनिंग की, और इंट्राडे में यह 51,836 के उच्च स्तर पर भी गया. पर आखिर में ऊपरी स्तर से 500 अंकों की बड़ी गिरावट के बाद 51,329 पर बंद हुआ. निफ्टी ने भी 15,164 पर ओपनिंग की और दिन में 15,257 के ऑल टाइम हाई पर भी गया. लेकिन कारोबार के आखिर में यह भी अपने ऊपरी स्तर से 150 अंक गिरकर 15,109 पर बंद हुआ. ब्रॉडर स्पेस में मिडकैप इंडेक्स में 0.1 प्रतिशत और स्मॉलकैप इंडेक्स में 0.5 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई.

जहां प्राइवेट बैंक और एनर्जी कंपनियों के शेयरों में खरीदारी से निफ्टी सुबह में नई ऊंचाई पर पहुंच गया. लेकिन, इस तेजी का आधार व्यापक नहीं रहा है. सोमवार को चढ़ने वाले मेटल और ऑटो शेयरों ने अपनी तेजी गंवा दी है. यह स्पष्ट है कि लगातार छह दिन की तेजी के बाद कारोबारी मुनाफावसूली करना चाहते हैं. वहीं निफ्टी में शामिल शेयरों में सबसे ज्यादा 3 फीसदी की गिरावट एमएंडएम में आई. टाटा मोटर्स, जेएसडब्ल्यू स्टील, आईटीसी, बजाज ऑटो, बजाज फाइनेंस, कोल इंडिया, डिवीज लैब्स, टीसीएस और बजाज फिनसर्व के शेयरों में भी गिरावट देखने को मिली

वहीं तीन दिनों तक स्थिर रहने के बाद पेट्रोल और डीजल की क़ीमतों में मंगलवार को फिर बढ़ोतरी हुई. जहां तेल कंपनियों ने डीजल और पेट्रोल दोनों के दाम 35 पैसे बढ़ाए हैं. इस बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में पेट्रोल का भाव पहली बार 87 रुपये प्रति लीटर के ऊपर चला गया है. डीजल की क़ीमत 77 रुपये प्रति लीटर हो गईं। अंतरराष्ट्रीय बाजारों में क्रूड के दाम भी 61 डॉलर प्रति बैरल के ऊपर.

बता दें कि सेंसेक्स कारोबार के अंत में 19.69 अंक गिरकर 51,329.08 पर रहा. निफ्टी 50 इंडेक्स 6.5 अंक गिरकर 15,109.30 अंक पर बंद हुआ. निफ्टी मिडकैप इंडेक्स 0.08 फीसदी और निफ्टी स्मॉलकैप इंडेक्स 0.56 फीसदी गिरकर बंद हुए.