सरकार द्वारा बनाए गए नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान का आंदोलन जारी है. जिसे लेकर किसानों ने शनिवार को पूरे देश में चक्का जाम भी किया. किसानों ने शनिवार दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक चक्का जाम किया. इस दौरान किसानों की ओर से देश के अलग-अलग हिस्सों में आज किसानों ने राजमार्गों को जाम कर दिया.

इस में पंजाब, हरियाणा, कर्नाटक, महाराष्ट्र समेत देश के कई राज्यों में किसानों का चक्का जाम देखने को मिला. किसान यूनियनों की ओर से आज राष्ट्रव्यापी ‘चक्का जाम’ किया गया. वहीं इस दौरान कृषि कानूनों और अन्य मुद्दों को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने कई जगह सड़कें जाम कीं. इसी के साथ देश के कई अलग-अलग हिस्सों में चक्का जाम का असर भी देखने को मिला.

बता दें कि किसान यूनियनों के जरिए घोषणा की गई थी कि प्रदर्शन स्थलों के आसपास के इलाकों में इंटरनेट पर पाबंदी लगाने, अधिकारियों के जरिए कथित रूप से प्रताड़ित किए जाने और अन्य मुद्दों को लेकर 12 बजे से तीन बजे तक देशव्यापी चक्का जाम के दौरान विरोधस्वरूप राष्ट्रीय और राजकीय राजमार्ग बाधित किया जाएगा और आज ऐसा ही देखने को मिला. जगह-जगह किसानों की ओर से चक्का जाम किया गया.

वहीं आज चक्का जाम प्रदर्शन के बाद कई जगहों पर लोगों को हिरासत में लिए जाने के मामले भी सामने आए हैं. चक्का जाम के तहत महाराष्ट्र के सतारा जिले के कराड शहर में ‘रास्ता रोको’ का आयोजन किया गया. वहीं कराड में कोल्हापुर नाका पर दोपहर के समय व्यस्त सड़क पर प्रदर्शन करने के चलते पुलिस ने कम से कम 40 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया, जिनमें वरिष्ठ कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण की पत्नी सत्वशीला चव्हाण भी शामिल रहीं. हालांकि बाद में सभी को रिहा कर दिया गया.

इसके अलावा दिल्ली से भी कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है. केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के चक्का जाम के आह्वान के समर्थन में कथित रूप से प्रदर्शन करने के लिए आज मध्य दिल्ली के शहीदी पार्क के पास 50 व्यक्तियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया.