किसान आंदोलन के बीच दिल्ली का गाजीपुर बॉर्डर एक बार फिर चर्चा में है. जहां किसानों की बढ़ती तादात और गणतंत्र दिवस परेड के बाद बने हालातों को देखते हुए बॉर्डर पर सुरक्षाकर्मियों की संख्या बढ़ाई गई है. इसी दौरान दिल्ली पुलिस द्वारा गाजीपुर बॉर्डर पर नुकीली कीलें भीलगाई गईं. अब ये कीलें हटाने की खबर सामने आ रही है, इस पर दिल्ली पुलिस ने कहा है कि गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों को रोकने के लिए लगाई गई नुकीली कीलों को हटाया नहीं गया है बल्कि उन्हें दोबारा नए तरीके से लगाया जाएगा.

बता दें कि कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है. गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसाके बाद से पुलिस ने सीमाओं पर सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी थी, और कई लेयर की बैरिकेडिंग, कटीले तार के साथ नुकीली कीलें भी लगा दी थी, जिसकी वजह से दिल्ली पुलिस पर काफी निशाना भी साधा गया. विपक्षी दल लगातार दिल्ली पुलिस पर हमलावर हैं. दिल्ली पुलिस ने अब इन कीलों की री-पोजिशनिंग की है.

वहीं मीडिया रिपोर्ट्सके मुताबिक करीब 11 बजे इन कीलों को हटाया गया. दिल्ली पुलिस की तरफ स्पष्ट किया गया कि कीलों को हटाया नहीं जा रहा है बल्कि री-पोजिशनिंग की जा रही है. लोगों को परेशानी न हो इसलिए कुछ जगह आने-जाने के लिए खाली छोड़ी जा रही है. दरअसल, किसानों से मिलने के लिए 10 विपक्षी दलों के सांसद गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचे थे लेकिन तारबंदी और बैरिकेडिंग के साथ लगी नुकीली कीलों से वह दिल्ली की सीमा से यूपी गेट तक नहीं पहुंच सके थे. इसके बाद ही कीलों की रि-पोजिशनिंग की गई है