क्रिस ने अबू धाबी टी10 लीग में बुधवार को कहर बरपा दिया. टीम अबू धाबी के लिए खेलते हुए उन्होंने 22 गेंद में नाबाद 84 रन बनाए. क्रिस गेल ने अपनी पारी में छह चौके और नौ छक्के लगाए. यानी 15 गेंद में ही 78 रन ठोक दिए. उनकी इस पारी के बूते टीम अबू धाबी ने मराठा अरेबियंस की ओर से मिले 98 रन के लक्ष्य को साढ़े पांच ओवर में ही हासिल कर लिया. क्रिस गेल ने छक्का लगाकर जीत दर्ज की. अभी तक अबू धाबी टी10 लीग में गेल का बल्ला शांत था, लेकिन आज वह खूब गरजा. मराठा अरेबियंस ने पहले खेलते हुए चार विकेट पर 97 रन का स्कोर खड़ा किया था.

यह मैच पूरी तरह से गेल के नाम रहा. लक्ष्य का पीछा करते हुए उन्होंने पहली दो गेंद डॉट खेलीं. इसके बाद पहले ओवर की आखिरी चार गेंद पर तीन चौके और एक छक्का लगा दिया. इसके बाद तो गेल के तूफान को रोकना मराठा वॉरियर्स के लिए हवा को बांधने सरीखा काम हो गया. गेल ने दूसरे ओवर की आखिरी तीन गेंद पर तीन आसमानी छक्के लगाए. फिर तीसरे ओवर की आखिरी चार गेंद पर दो चौके और दो छक्के लगाकर 12 गेंद में अर्धशतक ठोक दिया. यह टी10 लीग में सबसे तेज अर्धशतक का रिकॉर्ड है. गेल से पहले साल 2018 में अफगानिस्तान के मोहम्मद शहजाद ने भी 12 गेंद में पचासा जड़ा था.

वहीं अर्धशतक पूरा करने के बाद गेल की धमाकेदार बल्लेबाजी रुकी नहीं. उन्होंने चौथे ओवर की आखिरी दो गेंद पर भी छक्के जड़े. पांचवे ओवर में इशान मल्होत्रा के सामने वे थोड़ा धीमे हुए. इस ओवर में गेल केवल एक चौका लगा सके. लेकिन फिर छठे ओवर की तीसरी गेंद पर मिडविकेट के ऊपर से गेंद को छह रन के लिए रवाना कर गेल ने टीम को नौ विकेट से जिता दिया. टीम अबू धाबी का इकलौत विकेट पॉल स्टर्लिंग के रूप में गंवाया. वे 11 रन बनाकर आउट हुए. इस मैच से पहले गेल का अबू धाबी टी10 लीग के इस सीजन में सर्वोच्च स्कोर नौ रन था. वे एक बार भी दहाई का आंकड़ा पार नहीं कर पाए थे. लेकिन आज उन्होंने सारी कसर पूरी कर दी.

इससे पहले मराठा टीम ने ओपनर अलीशान शराफू (33) के बूते 10 ओवर में चार विकेट पर 97 रन बनाए. टीम का कोई बल्लेबाज टी10 स्टाइल में बल्ला नहीं चला सका इस वजह से मामूली स्कोर बना. जिसे हासिल करने में टीम अबू धाबी को कोई दिक्कत नहीं हुई.