दिल्ली में किसानों के द्वारा किये जा रहे प्रदर्शन के दौरान पुलिस से किसान नेताओ की भिड़ंत के बाद किसान प्रदर्शन में अफरा तफरी मच गई थी, दिल्ली लालकिले पर हुए बवाल के बाद लाखो से ज्यादा किसान अपने घर लौट गए,लेकिन देर रात राकेश टिकैट के द्वारा मीडिया के सामने आंसू निकलने के बाद अब आसपास के किसान भी दिल्ली प्रदर्शन स्थल की ओर कूच करने लगे है.

अलीगढ़ जिले की तहसील इगलास जहा टिकैत गुट के राष्ट्रीय संगठन मंत्री भूदेव प्रसाद शर्मा दिल्ली कूच के लिए रवाना हो चुके है. उनके द्वारा अन्य किसानो से भी दिल्ली पहुचने की अपील की गई,भूदेव प्रसाद शर्मा के द्वारा रोते हुए किसानो से दिल्ली पहुचने की अपील की गई.

संगठन मंत्री भूदेव शर्मा के द्वारा बताया की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के आदेश पर देर रात गाजीपुर बॉर्डर पर भारी संख्या मे पुलिस फोर्स तैनात किया गया थी. बीजेपी के षड्यंत्र के तहत दिल्ली के लालकिले पर किसी और ने झंडा फहराया गया जिसको आंदोलन कर रहे किसानो के ऊपर थोपा गया. जबकि इससे किसान आंदोलन का कोई भी लेना देना नही था. किसान सत्य राष्ट्रीय देश भक्त है हम गद्दार नही है। और ये हमको पता है की इस देश मे पहले भी गद्दार पैदा हुए है और आज भी गद्दार है. अंग्रेज आये थे वो फौज लेकर नही आये थे फौज यही तैयार हुई थी गद्दारों की मुंगल भी आये वो भी फौज लेकर नही आये उन्होने भी यही फौज तैयार की थी. उसी तरह से आज ये देश के ऊपर षड्यंत्र है और इन लोगो के द्वारा देश को हैंग कर लिया गया है तो वही देश को गड्ढे मे पहुंचा दिया आर्थिक स्थिति खराब कर दी गई जनता पर टैक्स बढ़ा दिया जहा देश को कर्ज में डुबो दिया विकास नही हुआ आज ये लोग भाई भाई को लड़ा रहे हैं बाप बेटे को लड़ा रहे हैं हिन्दू मुस्लिम को लड़ा रहे है.

दिल्ली में हुई हिंसा में उनके किसी भी किसान नेता का हाथ नही है,मौजूदा सरकार के द्वारा षड्यंत्र करके किसानों को फंसाने की साजिश की गई है,देर रात राकेश टिकैत जब रोये तो देश का किसान भी रो उठा यही कारण है,प्रदर्शन स्थल से वापस आये किसान अब धीरे धीरे वापस लौटने लगे है,आज भूदेव प्रसाद शर्मा भी खुद अपने साथियों के साथ दिल्ली के लिए निकल चुके है.