कर्नाटक का शिमोगा जिला गुरुवार की देर रात तेज धमाके की से दहल उठा. शिवमोगा जिले में रात को ट्रक में भरकर ले जाए जा रहे विस्फोटक में धमाका हो गया, इस धमाका से करिब 8 लोगों की मौत हो गई, तो वही आसपास के क्षेत्र में भी धमाके की वजह से झटके महसूस किए गए. धमाका इतना बड़ा था कि सड़क तक टूट गई. साथ ही आसपास मौजूद घरों और दफ्तरों के शीशे भी चकनाचूर हो गए.

वहीं इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त किया है. प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा, ‘शिवमोगा में हुई घटना से आहत हूं. शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है. प्रार्थना करता हूं कि सभी घायल जल्द ठीक हो जाएं. राज्य सरकार प्रभावितों को हर संभव सहायता प्रदान कर रही है.’

जानकारी के मुताबिक ये विस्फोटक खनन के लिए ले जाए जा रहे थे. पत्थर तोड़ने के एक स्थान पर रात साढ़े दस बजे के लगभग धमाका हुआ, जिससे न केवल शिवमोगा बल्कि पास के चिक्कमगलुरु और दावणगेरे जिलों में भी झटके महसूस किए गए. प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विस्फोट इतना तेज था कि घरों की खिड़की के शीशे टूट गए और सड़कों पर भी दरार पैदा हो गई.

बता दें कि कुछ महीने पहले भी इसी तरह की आवाज ने कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु को हिला दिया था. बाद में यह पता चला कि आवाज भारतीय वायु सेना के एक लड़ाकू जेट ने परीक्षण के दौरान सॉनिक बूम बैरियर को तोड़ दिया था. यह घटना मई में हुई थी और भारतीय वायुसेना की ओर से मामला सुलझाए जाने से पहले कई तरह के कयास लगाए गए थे. हालांकि, इस घटना को लेकर अधिकारियों के बयानों से यह साफ है कि घटना विस्फोट की है.