हरियाणा पुलिस ने किसान आंदोलन और गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली निकालने की खबर के बाद पुलिस कर्मियों की छुट्टियां अगले आदेश तक के लिए रद्द कर दीय है. साथ ही पुलिस की ओर से कहा गया है कि किसान आंदोलन को देखते हुए राज्य में आपातकालीन अवकाश को छोड़कर सभी छुट्टियां रद्द कर दी गई है. यह निर्देश गुरुवार को जारी किया गया. कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसानों की योजना है कि 26 जनवरी को दिल्ली में आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टर रैली का आयोजन करेंगे.

बता दें कि पुलिस और किसानों के बीच ट्रैक्टर परेड को लेकर के गुरुवार को हुई तीसरे राउंड की बैठक भी बेनतीजा रही. जहां किसान चाहते हैं कि ट्रैक्टर रैली 26 जनवरी को राजधानी दिल्ली के अंदर आउटर रिंग रोड पर हो, जबकि पुलिस का कहना है कि आप ट्रैक्टर रैली दिल्ली के अंदर ना करके कहीं बाहर कर ले. पुलिस ने रैली के लिए KMP के रास्ते का सुझाव दिया है लेकिन पुलिस के इस सुझाव को किसान मानने को तैयार नहीं है, और किसान अपनी बात पर अड़े हुए हैं. ट्रैक्टर रैली को लेकर किसान नेताओं ने साफ किया कि रैली 26 जनवरी को दिल्ली के अंदर ही होगी.

वहीं गुरुवार को दिल्ली पुलिस और किसानों के बीच हुई बैठक में दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी इंटेलीजेंस दीपेंद्र पाठक, स्पेशल सीपी लॉ एंड आर्डर संजय सिंह, जॉइंट सीपी एस एस यादव समेत हरियाणा और उत्तर प्रदेश पुलिस के आलाधिकारी मौजूद थे. इससे पहले मंगलवार और बुधवार को भी किसान नेताओं के बीच पुलिस के साथ हुई बैठक बेनतीजा रही. तो वहीं मीटिंग के बाद किसान नेताओं का कहना था कि पुलिस ने उन्हें कहा है कि आप 26 जनवरी को दिल्ली में परेड नहीं कर सकते है, जबकि किसान नेताओ का कहना था कि देश भर से जो किसान आ रहे हैं, वो 26 जनवरी को गणतंत्र की इज्जत बनाने के लिए तिरंगे की शान बढ़ाने के लिए आ रहे हैं.