ऐमेज़ॉन प्राइम पर वेब सीरीज तांडव मूवी की पिछले दो दिन पहले रिलीज हुई है, जिसमें हिंदू देवी देवताओं को अपमानित करने का कार्य किया.  हिंदुओं की आहत को ठेस पहुंची. इसमें  हिंदू देवी देवताओं का अपमान किया गया. अमेजॉन प्राइम पर तांडव मूवी में दलितों पर अभद्र टिप्पणी कर अपमानित करने का कार्य किया गया.

जिसके बाद अलीगढ़ के रामलीला मैदान में हाथों में तख्ती लेकर फिल्म तांडव के पोस्टर जलाए वही डायरेक्टर प्रोड्यूसर राइटर का पुतला दहन किया.  वेब सीरीज तांडव प्रतिबंध लगाया जाए.  पूरे देश मे इसका प्रसारण नहीं किया जाए. आंदोलन मे डायरेक्टर प्रोड्यूसर राइटर के मुर्दाबाद के नारे लगाए गए.  वही हिंदू देवी देवता व दलितों के अपमान की कड़े शब्दों में निंदा की गई. इस वेब सीरीज का प्रतिबंध अमेजॉन पर हिंदुस्तान में लगे और हिंदुओं का और दलितों का अपमान सहन नहीं किया जाएगा.

वेब सीरीज तांडव  को लेकर अब लोगों में गुस्सा बढ़ने लगा है.  हिंदू भावनाओं को आहत करने का इस वेब सीरीज पर आरोप लग रहा है.  बीजेपी के बड़े नेता लगातार इस फिल्म के खिलाफ विरोध कर रहे हैं.  यहां तक कि कुछ जगह पर इस वेब सीरीज के निर्माता निर्देशकों व कलाकारों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया गया है.  सोमवार को अलीगढ़ में भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित मोर्चा की तरफ से वेब सीरीज तांडव को लेकर प्रदर्शन करते हुए उसके कलाकारों का पुतला फूंका गया.  भाजपा अनुसूचित मोर्चा के कार्यकर्ताओ ने अब इस वेब सीरीज के खिलाफ थाना गांधी पार्क में तहरीर भी दी है.

दरअसल वेब सीरीज तांडव का प्रोमो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल होने के बाद एक समुदाय की धार्मिक भावनों को आहत होने व महिलाओं का अपमान करने के आरोप इस पर लग रहे हैं,   यही नहीं इस पर जातियों में विभाजन करने की भी बात सामने आ रही है. इस वेब सीरीज के खिलाफ आज भाजपा अनुसूचित मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने अध्यक्ष संदेश राज बाल्मीकि के नेतृत्व में रामलीला मैदान पर प्रदर्शन किया और वेब सीरीज के कलाकारों का पुतला फूंका.

वहीं इस पर अध्यक्ष संदेश राज वाल्मीकि ने कहा कि हिंदुस्तान में जहां देवी देवताओं का नगरी है. सनातन धर्म प्रसिद्ध है और सनातन धर्म के हिसाब से हिंदुस्तान चल रहा है.  लेकिन वही दूषित मानसिकता के लोग जैसे सैफ अली खान, जफर अली वह दूषित मानसिकता के लोग हैं. जो हिंदू देवी-देवताओं पर इस पिक्चर में बहुत ही अभद्र और गलत टिप्पणी की गई है उसका आज हमने पुरजोर विरोध किया है.