अलीगढ़ खेतों पर शौच करने के लिए गई 12 वर्षीय नाबालिग दलित किशोरी के साथ हैवानियत, कोहरे में मुंह में कपड़ा ठूंस अगवा कर ले जाने के बाद दो युवकों ने किशोरी के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया. गांव के रहने वाले दो दबंग युवक शौच करने गई किशोरी को उठाकर अपने साथ अगवा कर ले गए थे. वहीं दुष्कर्म, पीड़ित परिजनों को गाली गलौज और दुत्कार थानाध्यक्ष ने थाने से भगा दिया.

उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के थाना लोधा क्षेत्र के गांव की रहने वाली एक 12 वर्षीय दलित किशोरी 13 जनवरी की देर रात अपने घर से खेतों पर शौच करने के लिए गई थी. उसी दौरान गांव के रहने वाले दो दबंग युवकों ने खेतों पर शौच करने गई किशोरी को सुनसान जंगल के बीच खेतों पर अकेला देख घने कोहरे का नाजायज फायदा उठाते हुए किशोरी के मुंह में कपड़ा ठूंस अगवा करते हुए दोनों युवक नाबालिग दलित किशोरी को उठाकर अपने साथ ले गए. जहां किशोरी को उठाकर ले जाने के बाद दोनों युवकों ने गांव की ही रहने वाली नाबालिग किशोरी के साथ बारी-बारी से दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया. दुष्कर्म की घटना के कई घंटे बाद दरिंदों के चुंगल से छूटकर चीखती चिल्लाती दुष्कर्म पीड़ित किशोरी अपने घर पहुँची और अपने साथ हुई दरिंदगी की पूरी दास्तान अपने परिजनों को बताई.

जिसके बाद पीड़ित परिजन किशोरी को लेकर मुकदमा दर्ज कराने के लिए थाने पहुंचे, लेकिन थाना अध्यक्ष ने पीड़ित परिजनों को गाली गलौज कर थाने से दुत्कार कर भगा दिया. थाने से न्याय ना मिलता देख पीड़ित परिजनों ने अलीगढ़ के एसएसपी कार्यालय पहुंचकर दुष्कर्म के आरोपी युवकों के खिलाफ कार्यवाही कर न्याय की गुहार लगाई.

वहीं पीड़ित परिजनों अनुसार 13 जनवरी की शाम 7:00 बजे किशोरी घर से शौच करने के लिए खेतों पर गई थी. तभी किशोरी के पीछे पीछे गांव के रहने वाले आकाश और आशु पहुंचे और दोनों युवक किशोरी के मुंह पर कपड़ा बांध उठाकर अपने साथ ले गए. शौच गई किशोरी जब घर वापस नहीं पहुंची तो बेटी को गांव से लेकर खेतों तक में तलाशा गया, लेकिन बेटी का कहीं कुछ पता नहीं चला. 100 नंबर पर खेरेश्वर चौराहे लेपर्ड पुलिस को सूचना दी सूचना के करीब आधे घंटे बाद लेपर्ड पहुंची. जहां पुलिस के साथ मिलकर भी किशोरी को तलाशा गया. जिसके बाद देर रात 11:00 बजे किशोरी युवको के चुंगल से निकल कर चिल्लाते हुए घर पहुंची और अपने साथ हुई आपबीती बताई कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ है.

जिसके बाद परिजन दुष्कर्म पीड़ित किशोरी को अपने साथ लेकर शिकायत दर्ज करने थाना लोधा पहुंचे. थाने में तहरीर दी गई. पुलिस ने रात में दो युवकों को उठा लिया. जिसमें मुख्य आरोपी को आशु को ना उठाकर उसके भाई को पुलिस ने पकड़ा. जब परिजन सुबह स्थानीय ग्रामीणों के साथ थाने पहुंचे तो पुलिस वालों ने कहा अगर किशोरी मर जाती तो फिर क्या होता. जिसके बाद पुलिस वालो ने गाली गलौज कर थाने से दुत्कार कर भगा दिया. पीड़ित पिता ने कहा जो तहरीर लिखकर पुलिस को दी गई थी उस तहरीर को पुलिस द्वारा गायब कर दिया गया है.

घटना की जानकारी देते हुए ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शुभम पटेल ने बताया कि थाना लोधा क्षेत्र में 13 जनवरी की रात पुलिस को सूचना मिली थी कि एक किशोरी को दो युवक अपने साथ अपहरण कर ले गए हैं दोनों युवक गांव के ही रहने वाले जिनकी पहचान कर ली गई है परिजनों द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर धारा 363,323 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज है किशोरी को बरामद कर धारा 164 के बयान दर्ज कराए जाएंगे.