केंद्र सरकार की तरफ से सितंबर महीने में लाए गए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के राजधानी दिल्ली में आंदोलन का आज 51वां दिन है. इस बीच, सरकार और किसानों के बीच नौवें दौर की बातचीत बेनतीजा ही खत्म हो गई. अब अगले दौर की वार्ता 19 जनवरी को करने पर दोनों पक्षों में सहमति बनी है. वहीं दिल्ली गाजीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन में शिरकत कर रहे युवाओं का कहना है कि युवा देश का पांचवा स्तंभ है, और इस सरकार की वजह से आज का युवा बेरोजगार से जूझ रहा है. अब केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों ने किसान युवाओं को भी सड़क पर ला दिया है.