दिल्ली में ठंड का प्रंचड रूप देखने को मिल रहा है, और शीतलहर से पूरा उत्तर भारत ठिठुर रहा है. दिल्ली में एक बार फिर कोहरे ने लोगों की मुश्किलें और बढ़ा दी है. विजिबिलिटी कम होने होने की वजह से यातायात की रफ्तार धीमी पड़ गई है. सुबह के वक्त दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में तापमान में अच्छी खासी गिरावट दर्ज की गई.

दिल्ली के पालम इलाके में सुबह 6.2 डिग्री तापमान दर्ज किया गया तो वही सफदरजंग में 2 डिग्री. एक जनवरी के बाद यह पहली बार है जब दिल्ली में तापमान इतना नीचे गया है. एक जनवरी 2021 को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 1.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. वहीं मौसम विभाग की माने तो अगले दो से तीन दिन तक इसी तरह का मौसम बना रहेगा. वहीं, तापमान में गिरावट भी आ सकती है.

तो वहीं पूरे उत्तर भारत में इस वक्त कड़ाके की ठंड पड़ रही है. सबसे बुरा हाल जम्मू कश्मीर का है, जहां सर्दी ने पिछले कई सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. पहलगाम में पारा माइनस 12 डिग्री तक गिर गया. गुलमर्ग में भी तापमान माइनस 10 डिग्री दर्ज किया गया.श्रीनगर में तापमान 25 वर्षों के सबसे नीचले स्तर पर पहुंच गया है. गुरुवार को श्रीनगर में न्यूनतम तापमान -8.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. श्रीनगर में बुधवार को न्यूयतम तापमान माइनस 7.8 डिग्री रिकॉर्ड हुआ था जो पिछले 9 सालों में सबसे कम है.

वहीं मकर संक्रांति से शुरू होकर महाशिवरात्रि तक चलने वाला आस्था का मेला ‘माघ मेला’ कोरोना महामारी के बीच गुरुवार से संगम पर शुरू हो गया. ठंड व कोहरे पर आस्था भारी पड़ रही है. इस दौरान श्रद्धालुओं की भारी भीड़ पुण्य डुबकी लगाती नजर आई. माघ मेला के पहले स्नान पर्व यानी मकर संक्रांति पर संगम सहित गंगा और यमुना के सभी स्नान घाटों पर ब्रह्म मुहूर्त से ही श्रद्धालुओं के स्नान का सिलसिला शुरू हो गया. सुबह के समय संगम व आसपास के घाटों पर श्रद्धालु कम नजर आए. लेकिन सुबह सात बजे के बाद से श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ी.