देश और प्रदेश मे बार्ड फ्लू से हो रही पक्षियों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है, इसी कड़ी में अब बुंदेलखंड के हमीरपुर जिले का नाम भी शामिल हो गया. जहां एकाएक कई कौओ और बतखों की मौत से लोग सकते में आ गए, लोगो को आशंका है की इन पक्षियों की मौत का कारण बार्ड फ्लू है, फिलहाल पशु विभाग के डॉक्टरों ने मरे हुए पक्षियों के शवों को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया है.

बता दें कि मामला सुमेरपुर थाना कस्बे के रेलवे स्टेशन का है ,जहां मंगलवार को सुबह पेड़ों के नीचे बगुलों के साथ कौवों के मृत शरीर पड़े दिखाई दिए, इन पक्षियों के शव मिलने की सूचना पर कस्बे में सनसनी फैल गयी, मौके में पहुची पशु पालन विभाग की टीम ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करके सैंपल एकत्र करके जांच के लिए भेज दिए है.

पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि कौवे की मौत अत्यधिक ठंड के कारण हुई है. बर्ड फ्लू जैसे लक्षण नहीं दिखे हैं. ऐतिहात के तौर पर पीपीई किट पहनकर मृत शरीर को जलाकर अवशिष्ट को गड्ढे में चूना नमक डालकर दफन कर दिया गया है. इसके साथ ही एक किलोमीटर की परिधि में मुर्गी फार्मों में पाए जाने वाले मुर्गियों के सीरम सैंपल, क्लोअकल और ट्रेकियल स्वैब आईवीआरआई लैब में भेजने की प्रक्रिया की जा रही है. साथ ही मुर्गा फार्म संचालकों को बायो सिक्योरिटी प्रोटोकॉल फॉलो करने के निर्देश दिए गए हैं.

वही सीएमओ डॉ राजकुमार ने बताया कि मांसाहार के शौकीन लोग अंडे के साथ मुर्गे का गोश्त 70 डिग्री सेंटीग्रेड पर पकाकर खाएं. इस प्रक्रिया से वायरस मर जाता है.