दिल्ली के हिंदू राव अस्पताल में सैलरी को लेकर गुरुवार को नर्सें अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चली गईं. जिसकी वजह से मरीजों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है. 900 बिस्तरों वाले अस्पताल की नर्सें अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर महीने के लिए सैलरी भुगतान किए जाने की मांग कर रही हैं.

बता दें कि नर्सेज वेलफेयर एसोसिएशन (एनडब्ल्यूए) की प्रमुख इंदुमती जामवाल ने कहा कि हमने बुधवार को महापौर के साथ एक बैठक की, लेकिन इसमें कुछ भी रास्ता नहीं निकला. इसलिए हमने अपनी मांगों को लेकर गुरुवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला किया है.

जनकारी के मुताबिक नर्सों की हड़ताल के चलते अस्पताल में सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित हुई हैं. जामवाल ने कहा कि हम कुछ नहीं कर रहे हैं, इमरजेंसी वार्ड में भी सेवाएं नहीं दे रहे हैं. अधिकांश मरीज, जिनकी हालत स्थिर थी, उन्हें अन्य जगह शिफ्ट कर दिया गया है.

वहीं जामवाल ने बताया कि राजन बाबू टीबी अस्पताल की नर्सों ने भी एकजुटता में हड़ताल की है. उन्होंने बताया कि शुक्रवार को कस्तूरबा अस्पताल और श्रीमती गिरधारी लाल प्रसूति अस्पताल की नर्सें भी विरोध में शामिल होंगी.