नववर्ष 2021 के आगमन पर अपने जीवन में खुशियाँ और नव उल्लास की कामना के साथ लाखों की संख्या में भक्तों ने आदिशक्ति माता विंध्यवासिनी के दरबार में हाजिरी लगाई. शुक्रवार माता लक्ष्मी के दिन से आरम्भ हुए नये वर्ष की पहली किरण धरती पर पड़ने के साथ ही लाखों की तादात में जगत जननी आदिशक्ति माता विंध्यवासिनी के धाम में पहुंचे भक्तो ने हाजिरी लगाकर दर्शन पूजन कर मंगल कामना किया..

माता के धाम में पहुंचे भक्त नववर्ष के पहले दिन लक्ष्मी स्वरूपा माता विंध्याचल रानी का दर्शन कर मन्त्र मुग्ध हो गए. माता के दर पर हाजिरी लगाने के बाद भक्तो को यह विश्वास है कि नया साल माँ की कृपा से कुशलता पूर्वक बीतेगा.

माना जाता है कि मां जगत जननी के धाम में दर्शन करने से भक्तो की सारी मनोकामना पूरी होती है. भक्तों ने अपने परिवार की कुशलता के साथ ही जगत में शान्ति , सौहार्द ,भाईचारा एवं विकास की कामना की. भक्त नये साल के पहले दिन दर्शन पूजन कर प्रसन्न रहे.साथ ही गत वर्ष कोरोना महामारी जैसी आपदा से जगत को मुक्त रखने की कामना की गई .

कहा जाता है कि माता के दरबार में आने वाले भक्तों की कामना अवश्य पूरी होती हैं. लिहाजा साल के पहले दिन माता रानी की पूजा अर्चना के साथ नववर्ष में सुख शांति और समृद्धि की कामना की जाती है. मन्दिर के श्रृंगारिया ने कहा कि भक्त की जो भी कामना होती हैं वह माता विंध्यवासिनी पूर्ण करती हैं.