भगवान के प्रति आस्था बीमार बेटे के स्वास्थ्य के लिए मुस्लिम महिला ने ईश्वर और अल्लाह से प्रार्थना की. ईश्वर द्वारा सुनी प्रार्थना के बाद बीमार बेटे के स्वास्थ होने के पर मुस्लिम महिला ने ऊपर वाले का शुक्र अदा करते हुए अपने घर के अंदर मंदिर स्थापित किया. वही मुस्लिम महिला हिंदू देवी देवताओं की पूजा करने के साथ नमाज भी अदा करती है, इनके लिए अल्लाह और ईश्वर दोनों ही एक समान है.

अलीगढ़ में एक मुस्लिम परिवार द्वारा अपने घर के अंदर एक मंदिर की स्थापना करने का मामला सामने आया है. परिवार के बताए अनुसार उनके बेटे की तबीयत अधिक बिगड़ने के चलते ईश्वर से ठीक होने की कामना की थी.

दरअसल अलीगढ़ के थाना देहली गेट इलाके के शाहजमाल स्थित एडीए कॉलोनी निवासी रूबी आसिफ खान अपने पति आसिफ खान और अपने बेटे मोहम्मद आसिम समेत अन्य बच्चों के साथ रहते हैं. रूबी आसिफ खान और आसिफ खान के बताए अनुसार बीते दिनों उनके बेटे मोहम्मद आसिम की तबीयत बेहद खराब हो गई थी. जिसके चलते आगरा रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बेटे की तबीयत अधिक बिगड़ने के चलते ईश्वर और अल्लाह से मन्नत और दुआ मांगी थी कि वह जल्द से जल्द ठीक हो जाये.

वही दंपति के बताए अनुसार ईश्वर से मांगी गई मन्नत पूरी होने की खुशी में आज घर के अंदर एक मंदिर की स्थापना की है. जिसमें श्री राम, सीता, लक्ष्मण, हनुमान जी, श्री गणेश व कान्हा की मूर्ति स्थापित की हैं. जिसके बाद गणेश वंदना भी की. दंपति का कहना है कि उनका परिवार अल्लाह और ईश्वर दोनों में आस्था रखते हैं. पूजा-पाठ हर त्योहार पर करते आ रहे हैं. लेकिन मन्नत पूरी होने के बाद मंदिर की स्थापना की गई है.

आपको बता दें, रूबी आसिफ खान भाजपा में महावीरगंज मंडल मंत्री है. दंपति ने यह भी बताया कि कुछ दिन पूर्व एक परिवार ने मुस्लिम से हिंदू धर्म अपनाकर घर वापसी की थी. जिसकी जानकारी मीडिया के माध्यम से उनको हुई. लेकिन यह सुनकर बहुत दुख हुआ, जब उस परिवार ने हम लोगों पर धमकाने का आरोप लगाया. इस मौके पर जिला प्रशासन से यह भी मांग कर रहे हैं कि इसमें निष्पक्ष जांच कर दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही की जाए.