पाकिस्तानी सेना द्वारा जम्मू कश्मीर के गांदरबल मे 23 दिसंबर को हुए ग्रेनेड हमले मे अलीगढ़ के थाना गोंडा इलाके के गांव का रहने वाला सीआरपीएफ में तैनात जवान घायल हो गया था. घायल जवान आईसीयू मे भर्ती था. घायल जवान ने इलाज क दौरान मंगलवार को अंतिम सांस ली.

बता दें कि पाकिस्तान की और से एक बार फिर नापाक हरकत की गई, जिसका मुहतोड़ जबाब हिंदुस्तानी फौज के द्वारा दिया जार हा है, पाकिस्तान के द्वारा किये गए ग्रेनेड हमले से एक जवान घायल हो गया था,वहीं आईसीयू में भर्ती घायल जवान मंगलवार को इलाज के दौरान वीरगति को प्राप्त हो गया.

जम्मू कश्मीर के गांदरबल मे बीते 23 दिसंबर को पाकिस्तान की सेना द्वारा किए गए ग्रेनेड के हमले में घायल हुए अलीगढ़ निवासी सीआरपीएफ 162 के जवान नेत्रपाल सिंह आज शहीद हो गए. श्रीनगर के हॉस्पिटल मे भर्ती जवान ने अंतिम सांस ली. सेना द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि जवान का पार्थिव शरीर अलीगढ़ पहुंचने पर राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा.

दरअसल थाना बन्नादेवी इलाके के बीमा नगर निवासी सन (1971) मे जन्मे नेत्रपाल सिंह नाम के फौजी जो कि श्रीनगर में CRPF 162 बटालियन मे सूबेदार के पद पर तैनात थे. 23 दिसंबर को पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर के गांदरबल में ग्रेनेड से हमला कर दिया. जहां 23 दिसंबर को हुए पाकिस्तानी हमले मे जवान नेत्रपाल सिंह घायल होने के बाद ICU में भर्ती थे. मंगलवार को सुबह उपचार के दौरान फौजी की मृत्यु हो गई. परिजनों के मुताविक फौजी का शव आज दोपहर तक उनके पैतृक गांव आएगा. फौजी के शहीद होने के बाद एक तरफ जहाँ परिवार का सीना फक्र से चौड़ा हो गया है. तो वहीं परिवार में बेटे बेटियों और पत्नी समेत छोड़ के जाने का दर्द भी है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा शहीद के परिवार से एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी और 50 लाख रुपये सहित शहीद के नाम से एक सड़क निर्माण करवाने की बात सामने आ रही है.