पश्चिम बंगाल की राजनीति में इन दिनों बड़ी हलचल देखने को मिल रही है. जहां ममता बनर्जी और बीजेपी की तनातनी के बीच भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की भारतीय जनता पार्टी में एंट्री की अटकलें तेज हो गई है. दरअसल, कल सौरव गांगुली अचानक पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मिलने जा पहुंचे और आज वह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ मंच साझा करेंगे. कल की मुलाकात को राजभवन ने महज औपचरिक बताया था, लेकिन अब कई तरह की अटकलें भी लगाई जा रही है.

हालांकि राज्यपाल से मुलाकात के सवाल पर खुद सौरव गांगुली ने कहा कि आखिर वो किसी से क्यों नहीं मिल सकते हैं. इस बीच सौरव गांगुली आज दिल्ली आ रहे हैं. वो डीडीसीए के एक इवेंट में शामिल होंगे. इस इवेंट में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहेंगे. दरअसल, आज कोटला मैदान में पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की मूर्ति का अनावरण होना है. इस कार्यक्रम में सौरव भी शिरकत करेंगे.

बता दें कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कल राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की. राजभवन से बाहर निकलने के बाद सौरव गांगुली ने अपनी मुलाकात को ‘कर्टसी कॉल’ बताने के अलावा पत्रकारों के किसी सवाल का जवाब नहीं दिया. हालांकि राज्यपाल धनखड़ ने कहा कि सौरव गांगुली के साथ उनकी कई मुद्दों पर चर्चा हुई. राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सौरव गांगुली से मुलाकात की तस्वीरें और वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा की.

आपको बता दें कि अगले साल अप्रैल-मई में होने वाले राज्य विधानसभा के मद्देनजर सौरव गांगुली के राजनीति से जुड़ने के कयास लगाए जा रहे हैं. दो दिवसीय दौरे के दौरान अमित शाह ने भी ऐलान किया था कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी बंगाल की माटी का ही मुख्यमंत्री देगी. राज्यपाल धनखड़ लगातार ममता सरकार पर गंभीर सवाल उठा रहे हैं. ऐसे में गांगुली और राज्यपाल धनखड़ की मुलाकात के राजनीतिक निहितार्थ निकाले जा सकते हैं.