उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के थाना दिल्ली गेट इलाके में देर रात बीजेपी कार्यकर्ता अपने मित्र के साथ अंडे की दुकान पर अंडा लेने गए थे, उसी दौरान अंडे की दुकान पर खड़े होकर अंडा खाते हुए माहौर समाज के युवक का वाल्मीकि समाज के युवक से कंधा लड़ गया. इसी दौरान दोनों का एक दूसरे से कंधा लड़ने को लेकर कहासुनी हो गई. इस कहासुनी के बाद बात इतनी बढ़ गई कि पहले तो दोनों पक्षों के बीच खूब लाठी डंडे चले, फिर ईट और पथ्थरों से पथराव शुरू हो गया, जिसके बाद देखते ही देखते दोनों तरफ से करीब 3 राउंड फायरिंग भी की गई. वहीं गोलियों की तड़ तड़ाआहट से इलाका सराय मियां थर्रा गया, पथराव की सूचना मिलते ही इलाका पुलिस के साथ मौके पर पहुची पुलिस ने जांच शुरू कर दी गई है.

दरअसल जिला अलीगढ़ के थाना देहलीगेट क्षेत्र के सराय मियां में वाल्मीकि व माहौर समाज के लोग रहते है. घटना देर रात करीब नौ बजे की है. जहां वाल्मीकि समाज के लोगो के अनुसार नगर निगम का टेंपो गुजर रहा था. भाजपा के महावीरगंज मंडल के मंत्री व माहौर समाज के योगेश ने टेंपो को रोका और ठंड से बचने के लिए अलाव के लिए लकड़ी मांगी. टेंपो चालक के इंकार करने पर योगेश ने गाली-गलौज की. आरोप है ये भी है कि योगेश नशे में था. दोनों में कहासुनी हुई. फिर मारपीट हुई. इसी बात पर दोनों समाज के लोग इकट्ठा हो गए और पथराव शुरु हो गया. इसमें प्रवेश के पैर में गंभीर चोट आई है. एक गर्भवती महिला भी घायल हुई हैं. आरोप है कि माहौर पक्ष के लोगों ने भी फायरिग की.

हालांकि देहलीगेट क्षेत्र के सराय मियां के रहने वाले भाजपा नेता योगेश माहौर ने बताया है. योगेश के मुताबिक, देर रात उनका मित्र अंडे की ढकेल पर खड़ा हुआ था तभी शराब के नशे में अंडे की ढकेल पर वाल्मीकि समाज का युवक अजय पहुंचा, शराब के नशे में होने के कारण अजय और युवक के कंधे एक दूसरे से टकरा गए इसी बीच कंधा टकराने को लेकर दोनों के बीच कहासुनी हो गई, जिसके बाद दोनों का बीच-बचाव समझौता कराकर दोनों मामला शांत करा दिया. लेकिन जैसे ही वहां से निकलने लगे तो वाल्मीकि समाज के लोगों ने गाली-गलौज की फिर 20-25 लोगों ने आकर मारपीट की. और करीब तीन से चार राउंड फायरिग भी की. इस दौरान करीब 25 से 30 मिनट पथराव भी हुआ.

इधर, सूचना पर देहलीगेट थाना प्रभारी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को नियंत्रण में किया. सीओ प्रथम सुदेश गुप्ता ने बताया कि अंडे की ठेली पर दो पक्षों के बीच हुई कहासुनी होने के कारण दोनों पक्षों मे आपस में पथराव हो गया था. लेकिन इस संबंध में अभी दोनों पक्षों की तरफ से कोई तहरीर प्राप्त नहीं हुई है. तहरीर मिलते ही कार्यवाही की जाएगी, तहरीर नहीं मिली तो पुलिस की तरफ से एफआईआर दर्ज कराई जाएगी है.