यूपी के मुजफ्फरनगर में स्कूल प्रबंधकों ने लॉक डाउन के बाद से बंद पडे स्कूल खोले जाने की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन करते हुए धरना दिया, और डीएम को ज्ञापन सौंपकर अपनी पीडा बताई.

बता दें कि जिलेभर के अनेक स्कूलों के प्रबंधक कलेक्ट्रेट पहुंचे और जिलाधिकारी कार्यालय के सामने स्कूलों को खोले जाने की मांग करने लगे. बाद में स्कूल प्रबंधक धरने पर बैठ गये. इस दौरान अपनी पीडा बताते विद्यालय प्रबंधकों एवं साथ आये स्टाफ का कहना था कि जूनियर तक के स्कूल बंद रहने से विद्यार्थी शिक्षा से वंचित हो रहे हैं. जिससे विद्यार्थियों का मानसिक और शारीरिक विकास रुक गया है. इतना ही नहीं विद्यालय बंद होने से आर्थिक तंगी झेल रहे स्कूल प्रबंधक आत्महत्या के लिए मजबूर हो रहे हैं.

साथ ही उन्होंने कहा कि करीब 9 माह के लंबे लॉकडाउन के कारण बंद पडे विद्यालयों में गंदगी के ढेर लगे हैं, और विद्यालयों में चोरी की घटनाएं होना आम हो चली है. बिजली के बिल और बैंक की किस्त दे पाना नामुमकिन हो गया है. पिछले सत्र की परीक्षाएं ना होने की वजह से स्कूलों की भारी फीस अभिभावकों पर अवशेष है. बाद में स्कूल प्रबंधको ने सीएम के नाम संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा, जिसमें स्कूलों को जल्द से जल्द खोलें जाने की मांग की गई हैं. इस दौरान काफी संख्या में विद्यालय प्रबंधक और समस्त स्टाफ मौजूद रहा.