इटावा दंबगई दिखाते हुए सिपाही ने दर्जनो लोगों के साथ पडोसी के घर में घुसकर महिलाओं को घर से निकालकर घसीट घसीट कर पीटा, पुलिसकर्मी व दबंगो की दबंगई की घटना सीसीटीवी में हुई कैद, मामूली विवाद में कहा सुनी हुई थी, जिसके बाद पुलिसकर्मी व दबंगों की जुगलबंदी ने महिलाओं को जमकर पीटा, घायल महिला जिला अस्पताल में भर्ती.

सरकार किसी की भी हो लेकिन दबंग अपराधी अपनी दबंगई के आगे किसी को नहीं समझते यूपी सरकार गरीबों को न्याय दिलाने के लिए लाख दावे करले लेकिन असल मे हकीकत इटावा में कुछ और ही देखने को मिली पुलिस के दंबग जवान आंतक मचाने मे कोई कमी नही छोड़ रहे है. उन्हें ऐसा लगता है कि वो पुलिस विभाग मे है तो फिर वो कुछ भी करे उनको कोई कुछ नही कर सकता है.

ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के इटावा के फ्रेंड्स कालोनी इलाके के शिवपुरी शाला में सामने आया है. जहा पर मामूली विवाद में एक सिपाही ने अपने दर्जनों दबंग साथियों की मदद से पड़ोसी के परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया. इस हमले से परिवार के सदस्य बदहवास हो गए. पीड़ित वीरपाल की ओर से ऐसा बताया गया कि खाना बनाने की कड़ाही की सफाई करने की शिकायत करने पर प्रमोद यादव नामक यूपी पुलिस के सिपाही ने उसकी मां पत्नी, बेटी समेत परिवार के 4 सदस्यों को घसीट घसीट कर बुरी तरह से पीटा है.

पडोस मे रहने वाले सिपाही के परिजन कढाई मांग करके ले गये लेकिन उसकी सफाई नही की जिसकी शिकायत करने पर सिपाही ने अपने दर्जन भर दबंगो की मदद से हमला कर दिया. वहीं हमले की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को पहले थाने लाई उसके बाद सभी को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया. तो वहीं महिलाओं पर हुए इस हमले से इलाके में हड़कम्प मच गया.

हमले के बाद पुलिस ने मौहल्ले में लगे सीसीटीवी कैमरे जब देखे तो करीब दर्जनों की तादाद में दबंग महिलाओं को घसीट कर पीटते हुए दिखाई दे रहे है. वहीं इस मामले में इटावा नगर क्षेत्राधिकारी राजीव प्रताप सिंह ने बताया कि दो पड़ोसियों में किसी बात को लेकर कहा सुनी हो गयी. जिसके बाद मारपीट की घटना हुई मामला दर्ज कर लिया गया हैं. पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है. सिपाही किस थाने में तैनात है अभी तक पुलिस इस बात की जानकारी कर रही इसके साथ ही पुलिस हर पॉइंट्स की जाँच करेगी.