उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के थाना लोधा के कस्बा लोधा में दहेज की मांग पूरी न होने पर पति ने क्रूरता की सारी हदें पार दीं. पति द्वारा अपनी पत्नी को घर के अंदर कई दिन तक बंधक बनाकर रखा गया इतना ही नहीं पत्नी को कई दिन तक न केवल भूखा प्यासा रखा गया बल्कि उसके पति ने उसे जिंदा जलाकर मारने की भी कोशिश की गई. इतने पर भी जब पति का मन नहीं भरा तो पत्नी के खाना मांगने पर पति द्वारा पत्नी को घर के पालतू कुत्ते से उसे कटवा दिया जाता.

अस्पताल के बिस्तर पर लेटी कविता ने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि जिस जीवन साथी के साथ में सात फेरे लेकर अपने मां बाप का घर छोड़ अपने पति के घर जा रही है वही पति दहेज की मांग पूरी ना होने पर दहेज की खातिर एक दिन क्रूरता की सारी हदें पार कर देगा. और अपनी पत्नी को एक के बाद एक ऐसे जख्म देगा कि उन जख्मों को वह कभी जिंदगी भर भूलने की कोशिश करें तो भी भूल नहीं पाएगी. कविता की सूखी पड़ी आंखों से निकल रहे आंसू उस हैवान पति के द्वारा दिए गए उन जख्मों के हैं जिन जख्मों से शरीर में हो रहे दर्द के कारण आंखों से अब आंसू भी नहीं निकल रहे हैं.

तो वहीं हैवान पति ने कविता के ऊपर केरोसिन डालकर जिंदा जलाने की भी कोशिश की गई इतने पर भी जब पति का मन नहीं भरा तो पति ने अपनी पत्नी को घर के अंदर बंधक बनाकर कई दिन तक भूखा प्यासा रखा जब पत्नी द्वारा भूख लगने पर खाना मांगा तो पति ने घर में पल रहे पालतू कुत्ते से पत्नी को कटवाया जाता.

दरअसल दिल्ली की ओल्ड सीमापुरी की रहने वाली बुजुर्ग महिला शारदा देवी ने बताया कि आज से करीब तीन साल पहले उन्होंने बेटी और दामाद की मौत के बाद अपनी नातनी कविता की शादी अलीगढ़ के थाना लोधा कस्बा लोधा के रहने वाले दिनेश कुमार से की थी. शारदा देवी का आरोप है कि शादी मे दिए गए दहेज से दिनेश नाखुश था. जिसकी वजह से आए दिन उसका पति दिनेश अपनी पत्नी कविता से मारपीट व उसका मानसिक तौर पर उत्पीड़न भी करता था. इस दौरान कविता ने एक बेटे को जन्म दिया था, जिसकी बीमारी के चलते मौत हो गई.

लेकिन इसके बावजूद भी दहेज मे रुपयों की मांग पूरी न होने पर वो पिछले कई दिनों से कविता के साथ मारपीट कर रहा था. इतना ही नहीं उसे मारने की खातिर उसे केरोसिन डालकर जिंदा जलाने का भी प्रयास कर चुका है. आग मे झुलसा देने के बाद पिछले एक सप्ताह से उसे कमरे मे बंधक बनाकर भूखा-प्यासा रखा जा रहा था. तो वही खाना मांगने पर घर के पालतू कुत्ते से उसे कटवाया जा रहा था.

जब किसी तरह उन्हें इस बात की जानकारी मिली तो जिसके बाद वो दिल्ली से लोधा पहुंची, तो उसके बाद दिनेश और उसके परिजनों ने उनके साथ अभद्रता की. तो शारदा देवी ने थाना लोधा पुलिस से मदद मांगी तब जाकर कविता को उपचार के लिए जिला मलखान सिंह अस्पताल ले जाया गया.