पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज होती जा रही हैं. भारतीय जनता पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व बंगाल फतह करने के मिशन पर लग गया है. इस बीच तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के राजनीतिक सलाहकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट करके कहा कि अगर बीजेपी दहाई का आंकड़ा पार करती है तो मैं ट्विटर छोड़ दूंगा.

प्रशांत किशोर ने सोमवार को ट्वीट करके कहा कि मीडिया का एक वर्ग बीजेपी के समर्थन में माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है, इससे साफ है कि बीजेपी दहाई के आंकड़े के लिए संघर्ष कर रही है. अगर बंगाल में बेहतर प्रदर्शन करती है तो मैं ट्विटर छोड़ दूंगा.

बता दें कि प्रशांत किशोर का यह बयान गृहमंत्री अमित शाह के दो दिन के बंगाल दौरे के बाद आया है. कल बंगाल दौरे के आखिरी दिन अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि विधानसभा चुनाव तक ममता बनर्जी अकेली रह जाएंगी. उन्होंने बीजेपी को सत्ता मिलने पर पांच साल में सोनार बांग्ला बनाने की बात कही है.

बंगाल में टीएमसी शुभेंदु अधिकारी के झटके से अभी उबरी भी नहीं है कि एक और बगावती सुर देखने को मिल रहा है. ये बगावती सुर टीएमसी की तरफ से चुनाव में नैया पार लगाने के लिए लाए गए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के खिलाफ है. हावड़ा के शिवपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक जटू लाहिड़ी ने प्रशांत किशोर खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. लाहिड़ी ने सीधे प्रशांत किशोर पर हमला करते हुए कहा कि वह ‘किराए’ पर पार्टी चलाने आए हैं और उनके आने से पार्टी को नुकसान पहुंचा है.