अलीगढ़ कोर्ट परिसर में कल उस समय हंगामे की स्थिति उत्पन्न हो गई जब गैर समुदाय के युवक-यवती वहां पर शादी करने पहुंचे. आरोप है कि कुछ लोगों ने उन दोनों को पकड़ लिया और  प्रेमी की जम कर पिटाई कर दी.  बाद में दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया गया. वहीं पुलिस जब उन को कोर्ट परिसर के बाहर ले जाने लगी तो  युवक युवती दोनों का ड्रामा किसी फिल्मी सीन से कम नहीं था.  युवती जहां अपने प्यार को पाने के लिए तरह-तरह के डायलॉग बोल रही थी.  वही प्रेमी भी मजनू की तरह प्रेमिका के लिए जमीन पर लेट गया.  लोगों से प्रेमिका को दिलाने की फरियाद करने लगा,  लेकिन पुलिस दोनों को थाना सिविल लाइन ले आई.  साथ ही पुलिस ने युवक युवती के साथ कोर्ट परिसर में मारपीट करने वाले कई लोगों के खिलाफ थाना सिविल लाइन में मामला दर्ज किया है.

दरअसल पंजाब के मोहाली में अलीगढ़ के जीवनगढ़ का रहने वाला सोनू मलिक फेरी लगाकर कपड़े का काम करता है, जहां उसका फेसबुक से प्रेम संबंध मोहाली की ही रहने वाली एक नाबालिग युवती से हो गया, दोनों एक दूसरे के इतने नजदीक आ गए कि नाबालिग प्रेमिका अपने प्रेमी का हाथ पकड़कर अलीगढ़ शादी करने पहुंच गई.  उधर लड़की के घरवालों ने लड़की के अपहरण का एक मुकदमा सोनू मलिक के खिलाफ मोहाली में दर्ज करा दिया.

वहीं कल जब दोनों युवक युवती अलीगढ़ कोर्ट परिसर में शादी के लिए पहुंचे तो वहां पर कुछ लोगों को पता चल गया कि ये दोनों अलग-अलग समुदाय के हैं. इस पर कोर्ट परिसर में कुछ लोगों ने उन दोनों के साथ मारपीट कर दी.  सूचना पर अलीगढ़ थाना सिविल लाइन्स पुलिस भी पहुंच गई और दोनों को अपने साथ थाने ले गई. हालांकि युवक-युवती दोनों एक दूसरे को साथ जाने के लिए जिद पर अड़े रहे, लेकिन पुलिस जबरदस्ती दोनों को थाने ले आई. युवती खुद को अपने आप को बालिग बता रही थी.

उधर पंजाब पुलिस को जब जानकारी मिली कि युवक और युवती अलीगढ़ के थाना सिविल लाइन में है, तो पंजाब की मोहाली पुलिस की एक टीम अलीगढ़ के थाना सिविल लाइन पहुंच गई. पुलिस के साथ युवती का पिता भी मौजूद था. उसने अलीगढ़ पुलिस को युवती के नाबालिग होने के संबंधित दस्तावेज प्रस्तुत किए,  जिसके बाद अब मोहाली पुलिस युवक और युवती को अपने साथ मोहाली ले गई.

जहां कल तक जो प्रेमिका अपने प्रेमी के लिए तड़प रही थी, पर वह थाने में जाते ही बदल गई, और  मीडिया को दिए गए बयान में प्रेमिका ने बताया कि मेरी उससे फेसबुक पर बात हुई थी,  उसने अपना नाम सोनू बताया था, यह मुझे बोल रहे थे कि मैं हिंदू हूं,  तो मैं हिंदू समझ कर बात कर रही थी.  बाद में पता चला कि यह मुसलमान है. जिसके बाद वो मुझे बाइक से अलीगढ़ लेकर आए और कहा कि मैं कोर्ट मैरिज कर लूंगा.  कोर्ट मैरिज करने पहुंचे तो वकीलों ने बोला की आप आपना नाम केवल सोनु बताएं,  लेकिन घरवालों के बात करने से पता चल गया कि ये मुसलमान है.  यह हमेशा सलाम वालेकुम बोलते थे. मुझे अपने दीदी के घर पर रखे हुए थे.  3 दिन पहले मुझे पंजाब के चंडीगढ़ से बाइक से लेकर आए.  पहले हमारी हाय हेलो चली और काफी बातचीत हुई.  उसके बाद से ही यह शादी की बात करने लगे इसलिए आई थी मैं.  उन्होंने मुझे थोड़ा गुमराह किया कहा कि मैं तुम्हारे बिना नहीं जी सकता मर जाऊंगा जहर खा लूंगा

वहीं प्रेमिका के पिता ने बताया कि मैंने अपने बच्चों को ऑनलाइन पढ़ने के लिए मोबाइल दिया था. उसने मेरी बच्ची को फेसबुक पर फुसलाकर उसका ब्रेनवाश किया, और  बच्ची को बुला कर अलीगढ़ मोटरसाइकिल से लाया, और  सोनू मलिक ने उससे पैसे भी मंगवाये,  यह 5 दिन से फरार था.  मैंने वहां पर रिपोर्ट लिखाई और पागलों की तरह उसको ढूंढ रहा था,   फिर मैंने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी.

तो वहीं इस पूरे मामले में सीओ सिविल लाइन अनिल समानिया ने बताया कि कल शाम को न्यायालय एडीए 17 की कोर्ट में एक लड़का लड़की शादी का आवेदन लेकर पहुंचे थे.  वहां पर उस लड़के की कुछ लोगों ने पिटाई कर दी. जिसका वीडियो वायरल हुआ था. जिसके बाद धारा 147, 323, 504, 506 के तहत मामला दर्ज किया गया, वहीं जानकारी करने पर यह मालूम पड़ा कि इस लड़की के अपहरण के संबंध में मुकदमा थाना नयागांव, मोहाली चंडीगढ़ में धारा 363, 366 आईपीसी के तहत पंजीकृत है.  मोहाली की पुलिस भी थाना सिविल लाइन पर आ गई थी, और लड़का लड़की दोनों को लेकर चली गई.  क्योंकि वहां पर पहले से मुकदमा दर्ज है अग्रिम कार्यवाही वहीं से होगी.