• Wed. Sep 29th, 2021

अलीगढ़ दलित दूल्हे की गांव में नहीं चढ़ने दी बरात, जाट समुदाय के लोगों ने किया बारात पर पथराव

भले ही हम आज 21वी सदी में क्यों ना जी रहे हो लेकिन जातिवाद की बेड़ियों ने आज भी जातिवाद को पूरी तरीके से अपने पैरों में जकड़ कर रखा हुआ है. इसका ताजा मामला अलीगढ़ की तहसील अतरौली क्षेत्र के गांव में देखने को मिला,  जहां एक दलित समाज की बेटी की बारात गांव के अंदर आई हुई थी,  और जब बारात की रस्में पूरी होने के बाद गांव के अंदर बारात आई,  जहा दूल्हा घोड़ी पर बैठ था और बाराती ढोल नगाड़ों के बीच शादी का जश्न मना रहे थे,  इसी दौरान दलित समाज की बेटी की गांव के अंदर बारात चढ़ना स्वर्ण जाट समाज के लोगों को यह बात नागवार गुजरी,  और उन्होंने  गांव के अंदर बारात चढ़ने का विरोध करना शुरू कर दिया,  तभी स्वर्ण समाज के लोगों ने दलित समुदाय की बारात के ऊपर पथराव करना शुरू कर दिया,  और बारात में हुई शामिल महिलाओं और लड़कियों के ऊपर अश्लील कमेंट करते हुए महिलाओं से छेड़खानी की गई. साथ ही पथराव के दौरान बारात में शरीक हुए लोगों की गाड़ियों को भी तोड़ दिया गया.

दरअसल अलीगढ़ के थाना अतरौली क्षेत्र इलाके के गांव चितनंगला के रहने वाले दलित समाज से ताल्लुक रखने वाले कालीचरण की बेटी कुमारी नेहा की शादी गांव के रहने वाले नीरज कुमार के साथ 30 नवंबर को थी, और जब दूल्हा अपने बारातियों के साथ अपनी गाड़ियों में सवार होकर बारात लेकर गांव पहुंचा,  तो उसी दौरान देर रात करीब 9:00 बजे  दलित समुदाय की बारात गांव के रास्ते गलियों के अंदर से होकर गुजर रही थी, तभी  दुल्हन के घर से 100 मीटर की दूरी पर गांव के रहने वाले स्वर्ण जाति के जाट समुदाय के 40-45 व्यक्तियों ने बारात को रोका लिया और बारात को रोक कर अन्य रास्ते ले जाने का दबाव बनाने लगे. जब दलित समुदाय के लोगों द्वारा इसका विरोध किया गया तो जाट समुदाय के लोगों ने दलित समुदाय की बरात के साथ मारपीट कर पथराव कर दिया, जहां बरात में आई हुई महिलाओं के साथ भी अश्लील हरकतें करने के साथ महिलाओं द्वारा छेड़खानी का विरोध करने पर उनसे मारपीट की गई.  

जिसके बाद पीड़ित परिजनों द्वारा दबंग लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए थाना अतरौली के अंदर तहरीर दी गई. वही अलीगढ़ पुलिस दबंगों की दबंगई के आगे नतमस्तक होते हुए मुकदमा दर्ज करने से बचती रही.  लेकिन मामला बढ़ता देख जब बहुजन समाज पार्टी के जिलाअध्यक्ष रतनदीप ने हस्तक्षेप किया उसके बाद पुलिस ने घटना के कई दिन बाद 3 नवंबर को को मुकदमा दर्ज किया गया.

वहीं इस पूरे मामले पर जानकारी देते हुए ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शुभम पटेल द्वारा बताया गया कि यह थाना अतरौली क्षेत्र के गांव चितनंगला की घटना है.  जिसमें जाटव पक्ष के घर पर बारात आ रही थी. वहीं  गांव के अंदर बरात की कुछ दूसरे पक्ष के लोगों से झड़प हो गई, जिसके बाद दोनों पक्षों के पथराव हो गया.  जिसमें दोनों पक्षों को चोटे भी आई थी.  जिसके बाद जाटव समाज के पक्ष द्वारा थाना अतरौली पर तहरीर दी जिसके आधार पर sc-st और अन्य धाराओं के अंदर मुकदमा दर्ज किया गया है, और गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है, शीघ्र ही गिरफ्तारियां की जाएंगी.

AAJ KEE KHABAR PURANI YAADEN

Latest news in politics, entertainment, bollywood, business sports and all types Memories .