पिता की जगह मनरेगा मजदूरी करने गए 12 वर्षीय बच्चे को लेकर गांव के ही रहने वाले दो पक्षों की महिलाओं के बीच जमकर लाठी-डंडे चले. जिसके बाद पिटाई का लाइव वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.  

अलीगढ़ थाना गांधी पार्क क्षेत्र मे मनरेगा मजदूरी की शिकायत पर दो पक्ष आपस में भिड़ गए. जिसके बाद दोनों पक्षों में काफी देर तक लाठी डंडे चलते रहे, जिसमें करीब 4 लोग घायल हो गए, जिस पर दोनों पक्ष आपस में लाठी-डंडे चला रहे थे उसी दौरान गांव के रहने वाले किसी अन्य ग्रामीण ने मकान के अंदर छुप कर पिटाई का लाइव वीडियो बना लिया.उसके बाद दोनों पक्षों में हुई मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर गया. वहीं  मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को समझा-बुझाकर शांत कराया,  और घायलों को जिला अस्पताल उपचार के लिए भिजवाया गया. साथ ही घटना के बाद गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए गांव के अंदर पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है.

दरअसल अलीगढ़ के थाना गांधी पार्क इलाके के कमालपुर गांव का रहने वाला एक बच्चा अपने पिता की जगह मनरेगा मजदूरी करने के लिए चला गया था. इसी दौरान दो गुटों की महिलाओं में जमकर लाठी-डंडे चले लाठी-डंडे चलने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो में महिला एक दूसरे पर डंडे से बार करती हुई दिखाई दे रही है,  वहीं वीडियो में देखने से ऐसा लग रहा है कि महिला एक दूसरे के खून की प्यासी है.

वहीं सीओ सिविल लाइन अनिल समानिया ने जानकारी देते हुए बताया कि थाना गांधी पार्क इलाके के कमालपुर में पिता की जगह मनरेगा में काम करने पहुंचे बेटे को लेकर दो पक्षों में जमकर मारपीट हो गई.  मारपीट में लगभग आधा दर्जन लोग घायल हुए हैं, सभी का मेडिकल कराया गया है, और उसी के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है, घटना का एक वीडियो संज्ञान में आया है जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है.

बता दें कि  अलीगढ़ के थाना गांधी पार्क इलाके के कमालपुर गांव का रहने वाला 12 वर्षीय रामअवतार अपने पिता की जगह मनरेगा मजदूरी करने के लिए चला गया था. उसके पिता विनय कुमार ने बताया कि पिछले 1 महीने से तबीयत खराब चल रही मनरेगा के अंदर मजदूरी का काम करते तबीयत खराब होने की वजह से बेटा रामअवतार मजदूरी करने के लिए जाता है आज सुबह गांव के दूसरे पक्ष के उमेश द्वारा गांव प्रधान से बेटे रामअवतार की उम्र 12 वर्ष बताते हुए मनरेगा में मजदूरी को लेकर शिकायत की गई.  

जिसके बाद बेटे ने यह बात अपने पिता को बताई तो पीड़ित पिता विनय शिकायत  लेकर शिकायत करने वाले दूसरे पक्ष उमेश के पास पहुंचा,  और उमेश से कहा जब बीमारी की वजह से मैं घर पड़ा हुआ हुं तो दवाई गोली के पैसे कहां से आएंगे,  बेटा कम से कम मजदूरी पर जाकर कुछ पैसा कमाकर लाता है तो दवाई गोली और घर का खर्चा चल जाता है.  इसी बात पर पीड़ित विनय को उमेश ने थप्पड़़ जड़ दिया.  विनय ने थप्पड़ वाली बात अपने घर जाकर बताई. जिसके बाद बच्चों और उमेश के बीच कहासुनी हुई और देखते ही देखते उमेश और उसके परिवार वालों ने लाठी डंडों से विनय और परिवार के ऊपर हमला बोल दिया. इस हमले में 5 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, जिसमें विनय और उसकी पत्नी व बेटा रामअवतार और दो अन्य परिजन घायल हो गए, सभी घायलों का उपचार अलीगढ़ के जिला मलखान सिंह अस्पताल में चल रहा है.