दिल्ली में होते कोरोना महामारी की बढ़ती रफ्तार पर काबू करने के लिए दिल्ली सरकार की तरफ से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. जहां मास्क नहीं लगाने पर जुर्माने की रकम बढ़ाकर 2 हजार रूपये कर दी गई, साथ ही लगातार टेस्ट बढ़ाए जा रहे हैं, तो वहीं प्राइवेट लैब को RT-PCR टेस्ट के चार्ज कम करने के निर्देश दिए गए हैं.

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने सोमवार कहा कि मैंने निर्देश दिए हैं दिल्ली में RT-PCR टेस्ट्स के रेट कम किए जाएं. उन्होंने आगे कहा कि सरकार की तरफ से मुफ्त में यह जांच की जा रही है, हालांकि, जो लोग प्राइवेट लैब में टेस्ट्स करवा रहे हैं, वहां पर इसके चार्ज कम करने से उन्हें मदद मिलेगी.

वहीं दिल्ली में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 4,906 नये मामले सामने आये हैं जिसके बाद यहां संक्रमण दर 7.64 प्रतिशत है. राजधानी में संक्रमण के कारण 68 लोगों की मौत भी हो गई, जिसके बाद दिल्ली में मरनेवाले लोगों की कुल संख्या 9,066 हो गई. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी.

अधिकारियों जानकारी देते हुए बताया है कि जब संक्र​मण के मामले पांच हजार से कम और संक्रमण दर आठ फीसदी से कम है. उन्होंने बताया कि राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 68 लोगों की मौत हुई जो छह नवंबर के बाद सबसे कम है. छह नवंबर को दिल्ली में 64 लोगों की मृत्यु कोविड 19 के कारण हुई थी.

साथ ही उन्होंने बताया कि संक्रमण दर शनिवार को 7.24 फीसदी थी जो 23 अक्टूबर के बाद सबसे कम थी. शुक्रवार को यह आंकड़ा 8.51 प्रतिशत, गुरुवार को 8.65 प्रतिशत और बुधवार को 8.49 प्रतिशत था. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन में कहा गया है कि शनिवार को दिल्ली में कुल 64,186 नमूनों की जांच की गई. इनमें से 29,839 नमूनों की आरटीपीसीआर जांच की गई, जबकि 34,347 नमूनों की एंटीजन जांच की गई.

वहीं शुक्रवार को कुल 69,051 नमूनों की जांच की गई थी जो अब तक का सर्वाधिक है. दिल्ली में 11 नवंबर को एक दिन में सर्वाधिक 8,593 संक्रमित मामले सामने आए थे जबकि 18 नवंबर को एक दिन में सबसे अधिक 131 लोगों की मौत हुई थी. बुलेटिन के अनुसार दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले रविवार को बढ़ कर 5,66,648 हो गये जिसमें से 5,22,491 मरीज संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. बुलेटिन के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में उपचाराधीन मरीजों की सांख्या 35,091 है जो शनिवार के 36,578 की अपेक्षा कम है.