जहां एक तरफ देश में लव जिहाद पर बहस छिड़ी हुई है. वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश सरकार ने लव जिहाद के खिलाफ कानून बना दिया है तो कई बीजेपी शासित राज्य सरकारें भी इस पर कानून बनाने की कोशिश कर रही हैं. इस बीच समाजवादी पार्टी नेता एसटी हसन ने कहा कि लव जिहाद पॉलिटिकल स्टंट है, मैं मुस्लिम युवाओं से अपील करूंगा कि वो हिंदू लड़कियों को बहन समझे.

साथ ही सपा नेता एसटी हसन ने कहा कि हमारे देश में हजारों साल से बच्चे जब बालिग हो जाते हैं तो अपना जीवनसाथी खुद चुन लेते हैं, हिंदू मुस्लिम से शादी करता है, मुस्लिम हिंदू से शादी करता है, हालांकि बहुत कम होता है, अगर आप देखेंगे तो पता चलेगा कि शादी तो मर्जी से हो गई, लेकिन जब समाज का दबाव पड़ता है तो कहते हैं कि हमें तो मालूम नहीं था कि मुस्लिम है.

वहीं सपा नेता एसटी हसन ने मुस्लिम युवकों से अपील करते हुए कहा कि आप लोग हिंदू लड़कियों को अपनी बहन की तरह समझे, अब ऐसा कानून बना दिया गया है, जिससे उन्हें जबर्दस्त तरीके से टॉर्चर किया जा सकता है. अपने आपको को बचाएं और किसी भी प्रलोभन या लव के चक्कर में न पड़कर अपनी जिंदगी बचाएं.

बता दें कि लव जिहाद पर यूपी सरकार ने जिस अध्यादेश को पास किया है, उसके मुताबिक शादी के लिए धोखे से धर्म बदलवाने पर 10 साल तक की सजा होगी. इसके अलावा धर्म परिवर्तन के लिए जिलाधिकारी को दो महीने पहले सूचना देनी होगी. इतना ही नहीं, अध्यादेश में धर्म परिवर्तन के लिए 15,000 रुपये के जुर्माने के साथ 1-5 साल की जेल की सजा का प्रावधान है. अगर SC-ST समुदाय की नाबालिगों और महिलाओं के साथ ऐसा होता है तो 25,000 रुपये के जुर्माने के साथ 3-10 साल की जेल की सजा हो सकती है.