प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कोरोना से प्रभावित राज्यों के सीएम के साथ चर्चा की. जहां इस बैठक में आठ राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए, जिसमें दिल्ली, गुजरात, बंगाल, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री मौजूद रहे. वही इस बैठक में दिल्ली के सीएम केजरीवाल की ओर से अतिरिक्त बेड्स की मांग की गई, तो वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यों से सतर्कता बरतने को कहा.

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण का ग्राफ लगातार ऊपर की ओर जा रहा है. इस बीच पीएम मोदी के साथ कोरोना को लेकर हुई बैठक में जानकारी के मुताबिक सीएम अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से राजधानी में 1000 अतिरिक्त आईसीयू बेड्स की मांग की है. साथ ही दिल्ली सीएम ने पीएम मोदी से प्रदूषण के मसले पर दखल देने की अपील भी की है.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना बैठक की शुरुआत केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के संबोधन से हुई. अमित शाह ने कहा कि यूरोप-अमेरिका में फिर से मामले बढ़े हैं, ऐसे में हमें सावधान रहना होगा. अमित शाह ने राज्यों से सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क को अनिवार्य करने पर जोर देने को कहा. अमित शाह के बाद स्वास्थ्य सचिव ने आगामी दिनों की जानकारी देते हुए कहा कि दिल्ली, केरल, महाराष्ट्र और राजस्थान को विशेष सावधानी बरतनी पड़ेगी.

इस बैठक में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोरोना वायरस के हालात पर चर्चा करते हुए राज्य की स्थिति से पीएम मोदी को अवगत कराया. इसके साथ ही सीएम ठाकरे ने कोरोना वैक्सीन डिस्ट्रीब्यूशन के लिए टास्क फोर्स बनाने की बात कही है. बैठक में सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि वो सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला के साथ लगातार संपर्क में हैं. इसके अलावा राज्य सरकार ने एक टास्क फोर्स का गठन कर दिया जो वैक्सीन के आने के बाद उसके समय पर डिस्ट्रीब्यूशन को सुनिश्चित करेगी. वहीं ये टास्क फोर्स वैक्सीनेशन प्रोग्राम के संचालन की भी देखरेख करेगी.

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों से संवाद किया, जिन राज्यों में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के केस में बढ़ोतरी देखने को मिली रही है. जिसमें केरल, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री शामिल हुए. त्योहार के सीजन के बाद इन राज्यों में कोरोना के नए केस, मौतों की संख्या में उछाल देखने को मिला है.