कोरोना के बढ़े प्रकोप को लेकर सरकार ने शादी समारोह में 100 से अधिक मेहमानों पर भी रोक लगा दी है. इससे सबसे ज्यादा परेशान वह लोग हैं, जिनके घरों में शादी है और वह 100 से अधिक लोगों को कार्ड दे चुके हैं. पहले संख्या 200 थी जिस को घटाकर अब सरकार ने 100 कर दिया है और ऊपर से प्रशासनिक अनुमति लेना भी आवश्यक कर दिया है. अब लोग परेशान हैं जिन्होंने लोगों को शादी का निमंत्रण दे दिया है और 100 से ज्यादा लोगों के आने की संभावना है, अब वो किस किस को मना करे, ऐसे में अगर पुराने रिश्तेदारों को शादी में आने के लिए मना करें तो इससे रिश्तेदारी टूटने का भी डर बना हुआ है.

दरअसल जैसे ही सर्दी बढ़ी दिल्ली में कोरोना मरीज की संख्याओं में काफी तेजी से इजाफा होने लगा. उत्तर प्रदेश सरकार ने भी दिल्ली में तेजी से बढ़ते हुए कोरोना मरीजों को मद्देनजर यूपी में भी दिल्ली से लगने वाले सीमावर्ती जिलों में सख्ती बढ़ा दी. अब दिल्ली से लगने वाले बॉर्डर पर कोविड की चेकिंग हो रही है. वहीं सरकार ने शादी समारोह में 100 से अधिक मेहमानों पर भी रोक लगा दी है. इससे सबसे ज्यादा परेशान वह लोग हैं, जिनके घरों में शादी है और वह 100 से अधिक लोगों को कार्ड दे चुके हैं, क्योंकि पहले संख्या 200 थी जिस को घटाकर अब सरकार ने 100 कर दिया है, अब लोग परेशान हैं क्यों कि लोगों को निमंत्रण दे दिया गया है और 100 से ज्यादा लोगों के आने की संभावना है, अब वो किस किस को मना करेंगे.

वहीं अलीगढ़ के प्रशासनिक कार्यालय पर शादी समारोह आयोजित करने वाले लोगों की अनुमति के लिए भीड़ जुटनी शुरू हो गई है. जल्दी से जल्दी हर कोई अनुमति लेना चाहता है. उधर सरकार द्वारा मेहमानों की संख्या 100 तक सीमित किए जाने पर लोग भी काफी नाराज हैं. कलेक्ट्रेट अनुमति लेने आये भानु प्रताप सिंह ने बताया कि हम परमिशन लेने आए हैं, और यहां काफी दिक्कत हो रही है. पहले 200 आदमियों की परमिशन थी और हमने कार्ड बटवां दिए हैं, अब तो 100 की परमिशन कर दी गई है. अब किसको आप मना करेंगे और इससे लोग नाराज होंगे. हमने भी अपनी समस्या अधिकारियों को बताइ लेकिन कोई समाधान नहीं निकल रहा

भानु प्रताप सिंह, शादी की अनुमति लेने आया ब्यक्ति

तो वहीं मनी यादव ने बताया कि शादी की अनुमति के लिए काफी देर से हम लोग यहां खड़े हुए हैं. 2 दिन पहले योगी सरकार का तुगलकी फरमान आया है कि 100 लोगों से आप ज्यादा नहीं गैदरिंग कर सकते हैं. उस परिस्थिति में हम सब लोगों को निमंत्रण दे चुके हैं अब जब ज्यादा लोग इकट्ठा होंगे तो कैसे उनको मना करेंगे और इस सब के चलते बहुत सारी समस्याओं का सामना भी करना पड़ रहा है, साथ ही परमिशन भी काफी देर बाद मिल पा रही है.

मनी यादव, अनुमति लेने आया ब्यक्ति

साथ ही अलीगढ़ के जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह ने कोरोना को लेकर बताया कि अलीगढ़ में अभी तक जो स्थिति है, उसके हिसाब से हमारे यहां जो केस हैं वह 50 से कम आ रहे हैं. हम प्रतिदिन 3000 लोगों का कोविड परीक्षण कर रहे हैं, क्योंकि हमने होम आइसोलेशन की सुविधा फ़िलहाल खत्म कर दी है, क्योंकि अस्पताल में पर्याप्त सुविधा है. विशेष परिस्थितियों में ही होम आइसोलेशन की सुविधा दी जा रही है, और हमने दिल्ली से आने वाले लोगों के लिए 2 पॉइंट पर चेक पोस्ट बनाया है. यह गभाना का टोल प्लाजा पर और दूसरा जेवर टोल प्लाजा पर जहां पर हर व्यक्ति की टेस्टिंग की जा रही है.

वही जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह कहा कि बाजारों में भीड़ का सवाल है तो क्यों की शादियों का सीजन है इसलिए भीड़ ज्यादा है. फिर भी हमने मजिस्ट्रेटो को बैंकट हॉल और होटल के लोगों के साथ मीटिंग कर सरकार की जो पॉलिसी है उसके बारे में आगाह करने को कहा है. 100 से ज्यादा लोग इकठ्ठा ना हो, यह सरकार की गाइड लाइन है उसको सभी मजिस्ट्रेट को पालन कराने के लिए कहा गया है.

चन्द्र भूषण सिंह, डीएम अलीगढ़