उत्तर प्रदेश के जनपद शाहजहाँपुर शहर में रविवार को  बरेली के एम एल सी के निर्दलीय प्रत्याशी डॉ. विनय खंडेलवाल ने शाहजहाँपुर जिले के कई स्कूलों में MLC चुनाव सम्बंन्धित शिक्षकों से मिलकर मीटिंग की. साथ ही डॉ. खंडेलवाल ने शिक्षकों से वोट भी मांगे उसके बाद शाहजहाँपुर के सत्यम होटल में मीडिया से  रूबरू भी हुए.  जिसमें विनय खंडेलवाल ने मीडिया को शिक्षको पर हो रहे उत्पीड़न व शिक्षकों की अन्य समस्याओं को लेकर सीधे सरकार तक बात पहुँचाने की बात कही, साथ ही उन्होंने कहा कि शिक्षकों का जीवन काफी चुनौतियों का पर्याय रहा है,  समाज को नयी दिशा प्रदान करने वाला शिक्षक स्वयं विषमताओं भरा जीवन जी रहा है.  इसका कारण सिर्फ़ एक है- वो ये कि कोई शिक्षकों की आवाज़ को सही स्थान तक पहुँचाने वाला नायक अब तक नहीं चुना जा सका है.

वहीं डॉ.खंडेलवाल ने कहा कि शिक्षकों को एक ऐसे नेता की आवश्यकता है. जो वित्तविहीन, सरकारी सहायता प्राप्त – सभी प्रकार की शिक्षण संस्थाओं में पढ़ा रहे शिक्षकों के हक़ की आवाज़ उठा सके,  उनके जीवन में एक नया सवेरा ला सके और ये नया सवेरा एक नया नायक ही ला सकता है.  जिसकी सोच नयी हो जिसमें होश के साथ जोश भी हो जो कुछ कर गुजरने का माद्दा रखता हो इसी चुनौती को स्वीकार करते हुए, बरेली शहर के प्रख्यात समाज सेवी एवं शिक्षाविद डॉ. विनय खंडेलवाल ने आगामी शिक्षक MLC  चुनाव में खड़े हो कर शिक्षकों के कल्याण का बीड़ा उठाया है.

बता दें कि शिक्षा के क्षेत्र में 20 वर्षों से भी ज़्यादा का अनुभव रखने वाले, अपने देश के शिक्षा तंत्र को नज़दीक से देखने और समझने वाले अपने शिक्षक भाइयों और बहनों के हर दुख से परिचित- डॉ.विनय खंडेलवाल पूरे शिक्षक समुदाय को एक सूत्र में बांधना चाहते हैं एक ऐसा सूत्र जिसमें विश्वास हो शक्ति हो और एक जुटता हो उच्च शैक्षणिक योग्यता युक्त, अनेको बार एक्सलेन्स इन एजुकेशन पुरस्कार तथा अन्य शैक्षणिक पुरस्कारों से सम्मानित डॉ.विनय ने अपने शिक्षक समुदाय को वेतन,पेन्शन मानदेय कार्य असुरक्षा भ्रष्टाचार, ट्रान्स्फ़र की परेशानियों से जूझते देखा है, अब उन्होंने अपने शिक्षक MLC के अजेंडे में अपने भाइयों और बहनों की हर विषमता को दूर करने को अपनी वरीयता में स्थान दिया है

जैसे की  वित्तविहीन विद्यालयों  महाविद्यालयों को सम्मान जनक मानदेय दिलवाना. पुरानी पेन्शन योजना को बहाल करवाना. सभी शिक्षकों को निशुल्क दुर्घटना तथा मेडिकल बीमा का लाभ दिलवाना.  मान्यता की धारा 4 (क) को हटाकर धारा 7 (4 ) को लागू करवाना. धारा 21 की पूर्ण बहाली करवाना. साथ ही  शिक्षकों के अनुभव प्रमाण पत्र को उचित मान्यता दिलवाना. मदरसा शिक्षकों के लिए कल्याणकारी योजनाएँ लागू करवाना और  MLC निधि का एक एक पैसा शिक्षक -कल्याण में लगाने जैसे काम करना है.

वहीं इस दौरान  डॉ.खंडेलवाल के साथ रहे चुनाव प्रभारी मृगेन्द्र सिंह, डॉ.हेमंत यादव,डॉ..मनीष वाष्र्णेय, विनोद कुमार आदि मौजूद रहे,