बिहार राज्य के वैशाली जिले में 20 वर्षीय किशोरी गुलनाज के ऊपर केरोसिन डालकर जलाने के बाद उसके शव को कुएं के अंदर फेंक दिया गया, जहां गुलनाज को जलाकर मारने वाले हत्यारे सतीश राय को बिहार पुलिस द्वारा कार्यवाही नहीं होने से नाराजगी जाहिर करते हुए शनिवार को  अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र छात्राओं ने मृतक किशोरी को न्याय दिलाने के लिए प्रोटेस्ट मार्च निकाल. साथ ही आरोपियों पर कठोर कार्यवाही की मांग करते हुए एक ज्ञापन बिहार के मुख्यमंत्री नितेश कुमार के नाम सौंपा गया.

केंद्र से लेकर बिहार तक बीजेपी सरकार है, साथ ही बीजेपी सरकार के द्वारा बेटियों की सुरक्षा को लेकर तमाम तरह के कानून बनाये जा रहे है, लेकिन फिर भी बीजेपी सरकार सतीश कुमार जैसे आरोपियों को कानून के साथ और बेटियों के साथ खिलवाड़ करने से रोकने में नाकामयाब नजर आ रही है, बीते दिनों सतीश और उनके कुछ दोस्तों ने विशेष समुदाय से ताल्लुक रखने वाली 20 वर्षीय किशोरी गुलनाज के साथ छेड़छाड़ की घटना को अंजाम दिया, लेकिन जब इसका विरोध हुआ तो उसे केरोसीन तेल डालकर आग लगाकर मौत के घाट उतार दिया गया.

बता दें कि सोशल मीडिया पर इन दिनों जस्टिस फॉर गुलनाज  की मांग तेज होती ही जा रही है. साथ ही बिहार के वैशाली जिले में भी गुलनाज के साथ हुई घटना को लेकर इंसाफ की मांग तेज हो गई है. इस वारदात के आरोपी को बिहार पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया है, गुलनाज का परिवार ये आरोप लगा रहा हैं कि आरोपी उनको धमका रहे हैं. वहीं पुलिस बस बार बार आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की बात कह रही है.

वहीं गुलनाज की हत्या के मामले को लेकर एएमयू की छात्राओं में काफी रोष नजर आ रहा है, यही कारण है शनिवार को एएमयू की छात्राओं के द्वारा बिहार सरकार पर जमकर तंज कसे गये, साथ ही गुलनाज को इंसाफ दिलाने के लिए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र और छात्राओं के द्वारा डीएम अलीगढ़ द्वारा बिहार के मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा है. जिसमें छात्राओं के द्वारा गुलनाज के परिवार को मुआवजा सहायता राशि सहिंत गुलनाज के परिवार को सरकारी नौकरी देने के साथ आरोपियों पर कठोर कार्यवाही की मांग की गई.

साथ ही एएमयू छात्राओं के  कहना है कि हर रोज महिलाओं के ऊपर अत्याचार हो रहे है, लेकिन सरकार के द्वारा कोई कठोर कानून ना बनाने से आरोपियों के मंसूबे बढ़ते नजर आ रहे है. वहीं छात्राओं ने सरकार से कठोर कानून बनाने की मांग की है साथ ही सभी आरोपियों को फांसी पर चढ़ाने की बात कही है.

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र