उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ की महिला थानाध्यक्ष विपिन चौधरी द्वारा थाने के अंदर अपनी फरियाद लेकर पहुंची एक महिला को एक दिन का थाना प्रभारी बनाया गया, तो वही फरियादी प्रभारी थानाध्यक्ष ने महिला थाने के अंदर जन सुनवाई करते हुए शिकायतों का निस्तारण  भी किया. जहां पुलिस के द्वारा जनता में सकारात्मक संदेश देने के लिए महिला थाना प्रभारी ने फरियादी महिला को एक दिन के लिए थाना प्रभारी बना दिया.

दरसअल अलीगढ़ के थाना पिसावा क्षेत्र की रहने वाली जावित्री नाम की महिला अपने ससुराल वालो व पति के द्वारा उत्पीड़न का शिकार होने पर महिला थाना प्रभारी के पास अपनी शिकायत लेकर आई थी, उसी महिला को महिला थाना प्रभारी विपिन चौधरी के द्वारा 1 दिन के लिए थाने का प्रभारी बनाया गया, और उस महिला के द्वारा 4 शिकायतें भी सुनी गई, जिसमें 2 शिकायतों में सुलह समझौता कराकर समाप्त करा दिया गया, तो वहीं 2 शिकायतों में मुकदमा दर्ज करने के आदेश किए गए, पुलिस के द्वारा यह पहल फरियादियों मैं सकारात्मक संदेश देने के लिए की गई.

वहीं  महिला थानाध्यक्ष विपिन चौधरी द्वारा एक दिन के लिए फरियादी महिला को थाना प्रभारी बनाते हुए कहा गया कि पुलिस पर विश्वास न करने वाली महिलाओं के लिए एक पहल शुरू की गई.  जहां फरियादी महिलाओं को 1 दिन का थाना प्रभारी बनाकर उनके द्वारा ही जन सुनवाई की जाए,  जिससे कि फरियाद लेकर आई महिलाओं को पता चल सके कि उत्तर प्रदेश पुलिस जमीनी स्तर पर महिलाओं के लिए काम करती है.  

जावित्री देवी फरियादी