उधार का पैसा जल्दी ना देना पड़े इसलिए युवक विपिन ने अपनी मौसी के लड़के के साथ मिलकर रची लूट की मनगढ़ंत कहानी. पुलिस ने लूट की झूठी कहानी का पर्दाफाश करते हुए दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

बता दें कि अलीगढ़ के इगलास कोतवाली पुलिस को कल शाम  सूचना मिली कि हाथरस मार्ग पर तोछिगढ़ की पुलिया के समीप दो बाइक सवार दुकानदारों से स्कार्पियो सवार आधा दर्जन बदमाशों ने मारपीट कर एक लाख तीस हजार रुपये लूट लिए है. दुकानदार हाथरस से इगलास परचून की दुकान का पेमेंट करने आ रहा था. लूट की घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस की टीम उसके आरोपी की छानबीन में लग गई. देर रात पुलिस ने उस लूट का खुलासा भी कर दिया और घटना को फर्जी बताया.

दरअसल विपिन पुत्र रामजीलाल निवासी हेमा नगला की हाथरस में पहलवान प्रोविजन स्टोर के नाम से दुकान है. कल शाम विपिन अपने मौसी के लड़के कलवा के साथ हेमा नगला में इगलास व्यापारी को पैसे देने आ रहे थे. उसी दौरान उसने पुलिस को अपने साथ लूट की सूचना दी. जहां पुलिस को उसने बताया कि कुछ स्कार्पियो सवार लोगों ने उसके साथ पीछे से आकर मारपीट की और उससे 1 लाख 30 हजार रुपय छीन लिए हैं. सूचना के बाद पुलिस मामले की छानबीन में लग गई और चंद घंटों में ही घटना का खुलासा करते हुए हैं लूट की घटना को फर्जी बता दिया.

पुलिस के अनुसार 17 नंबमर को विपिन कुमार अपनी मौसी के लड़के के साथ अपनी बुलेट मोटरसाइकिल पर बैठकर इगलास आ रहा था. विपिन कुमार ने हरीरामपुर ठेका पर शराब पी और अपनी मौसी के लड़के कलवा से कहा कि तुम पुलिस को यह बता देना कि मेरे साथ रोड के पास लूट हो गई है और मुझे सेठ का पैसा नहीं देना पड़ेगा और कुछ दिन का समय और मिल जाएगा. मैं उधार सामान  उठा लूंगा, विपिन कुमार उपरोक्त हाथरस में अपनी पहलवान प्रोविजन स्टोर की दुकान चलाता है और इगलास के लाला हर स्वरूप अग्रवाल के यहां से उधार का सामान ले जाता है. इगलास के लाला का लगभग डेढ़ लाख रुपय विपिन कुमार के ऊपर बकाया है. उधार का पैसा जल्दी ना देना पड़े इसलिए लूट की मनगढ़ंत कहानी बनाई थी. जिसका पुलिस ने सामय से पहले ही खुलाश कर दिया