दिवाली की खुशियों पर तो सबका हक होता है, लेकिन देश में अभी भी बहुत लोग ऐसे हैं जो गरिबी के वजह से इस खुशी से दुर रहे जाते है. वहीं देश में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इन गरीबों को खुशी देने की पूरी कोशिश करते है. ऐसी ही एक खबर उत्तर प्रदेश के जनपद सम्भल से सामने आई है. जहां संभल के एसपी यमुना प्रसाद ने दिवाली पर सड़क किनारे दीये बेचने वाले लोगों के चेहरे पर खुशी लाई हैं

आपने कभी सुना है कि दीयों की बिक्री से भी खुशियां मिल सकती हैं, यह तो एक सपने जैसा ही हैं. लेकिन सम्भल के एसपी यमुना प्रसाद ने इसे हकीकत का रूप दिया है. सड़क किनारे दीये बेंचने वाले इन दिनों एक सुखद अहसास की अनुभूति कर रहे हैं. दीये बेचकर मिल रहे रुपये से त्योहार मनाने की खुशियां आलग ही है. बता दें कि यह सब सम्भल के एसपी यमुना प्रसाद ने किया हैं.

जब उन्होंने सड़क के किनारे बैठे दुकानदार के सामने घुटनों पर बैठकर दिये देखना शुरू किया तो यह देखकर दुकानदार भी हक्का-बक्का रह गया और उसने भी दीये दिखाने शुरू किए. वहीं दिये बेचने वाले दुकानदार कहा कि मेरा तो भगवान मेरे सामने आकर बैठा आज सुबह से कोई बिक्री नहीं हुई थी, बता दें कि दीये बेचने वाले दुकानदार का नाम दीपक है, वहीं एसपी यमुना प्रसाद ने उसके सब दिए और खिलौने खरीद लिए और पुलिस टीम को भी हिदायत दी सभी लोग मिट्टी के दीये खरीद कर दीपावली की रौनक कर अपने घर से पहले इनके घरों में रोनक करें इस पहल पर सबके चेहरे पर मुस्कुराहट थी.

सड़क किनारे दीये बेचने वालों के पास पहुंच कर सम्भल एसपी यमुना प्रसाद ने उसे ढांढस बंधाया और बोले भाई हम भी दीये खरीदने आए हैं. दीये भी खरीदेंगे और फोटो भी खिचवाएंगे. जमीन पर एसपी यमुना प्रसाद की गर्मजोशी भरी इस बात ने सभी को उनकी ओर खींच लिया. इसके बाद एसपी ने दीये लेने के बाद रुपये दीये तो एसपी बोले – मिट्टी कला को जिदा किए हैं आज कुछ बचपन की यादें जिंदा करा दी है.

Happy Diwali