बिहार में एनडीए की जीत के बाद एक बार नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. विधानसभा चुनाव में एनडीए को स्पष्ट बहुमत मिला है. अब नीतीश कुमार दिवाली के बाद एक बार फिर मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. जानकारी के मुताबिक  16 नवंबर को नीतीश का शपथ ग्रहण समारोह हो सकता है.

बता दें कि नीतीश कुमार इस बार सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे. सबसे पहले साल 2000 में वो मुख्यमंत्री बने थे और तब से अबतक अलग-अलग मौकों पर वो शपथ ले चुके हैं.

पीएम मोदी ने बंद किया कयासों दौर

जहां बिहार के चुनावी नतीजों में इस बार बीजेपी एनडीए में बड़ा भाई बनी है. वहीं  ऐसे में लगातार बीजेपी के कुछ नेता ऐसी मांग उठा रहे थे कि इस बार मुख्यमंत्री बीजेपी का ही बनना चाहिए. लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार शाम को बीजेपी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए साफ कर दिया कि बिहार में नीतीश कुमार की अगुवाई में ही एनडीए की सरकार बनेगी. 

नीतीश ने भी किया पीएम को शुक्रिया

नीतीश कुमार ने भी बुधवार देर शाम को चुनाव नतीजों पर पहली बार अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने लिखा कि जनता मालिक है और उन्होंने एनडीए को पूर्ण बहुमत दिया है. नीतीश कुमार ने इसी के साथ लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चुनाव के दौरान सहयोग के लिए शुक्रिया.

बता दें कि इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए को कुल 125 सीटें मिली हैं, जिनमें से 74 भाजपा को, 43 जदयू, 4 हम और 4 VIP को मिली हैं. वहीं, तेजस्वी की अगुवाई वाला महागठबंधन सिर्फ 110 पर रुक गया. वहीं ऐसा करीब दो दशक के बाद हुआ है जब एनडीए के साथ रहते हुए बीजेपी की सीटें जदयू से अधिक हो.