पंजाब कांग्रेस के सांसदों ने शानिवार को गृहमंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात की. जहां सांसद पंजाब में किसानों के मसलों और रेल सेवा को शुरू करने की मांग को लेकर गृहमंत्री से मिले. गृहमंत्री से मुलाकात करने वाले सांसदों में परनीत कौर, गुरजीत औजला, डॉ अमर सिंह, मनीष तिवारी, मो सदीक, जसवीर सिंह डिम्पा, रवनीत बिट्टू और चौ. संतोख शामिल थे.

साथ ही गृहमंत्री से मुलाकात के बाद सांसद रेलमंत्री पीयूष गोयल से भी मिलने पहुंचे. मुलाकात के बाद कांग्रेस सांसद जसवीर सिंह डिम्पा ने कहा कि हमारी मुलाकात बहुत अच्छी रही. बातें सकारात्मक रही हैं. जल्द ही रेल सेवा शुरू होगी. ज्यादातर किसान पटरियों से उठ चुके हैं.

बता दें कि पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के चलते रेलवे को हर रोज़ भारी नुक़सान उठाना पड़ रहा है. पिछले एक महीने से पंजाब में फ़्रेट और यात्री दोनों ही तरह की ट्रेनें ठप हैं. इससे पंजाब की आर्थिक स्थिति भी ख़राब हो रही है. इस मुद्दे को लेकर गुरुवार को पहले पंजाब बीजेपी के सांसदों के एक दल ने रेल मंत्री से मुलाक़ात की और फिर पंजाब कांग्रेस के सांसदों ने भी रेल मंत्री से मुलाक़ात की. इसी के बाद पंजाब सरकार ने ट्रैक ख़ाली कराने का एलान किया था.

आश्वासन के बाद भी नहीं उठे किसान
पंजाब के मुख्यमंत्री ने पत्र लिख कर गुरुवार को रेल मंत्री को आश्वासन दिया था कि रात भर में पंजाब के उन सभी स्थानों से आंदोलनकारियों को हटा लिया जाएगा, जहां वो पटरियों पर बैठे हैं. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने उम्मीद जताई थी कि शुक्रवार को किसी समय गुड्स और यात्री ट्रेनें चल सकती हैं. लेकिन आज शाम तक पंजाब में 31 में से सिर्फ़ 9 ब्लॉकेड ही हटाए जा सके थे. पंजाब के 22 स्थानों पर अब भी किसान आंदोलनकारी रेल पटरियों पर बैठे हुए हैं.