चुनावी सरगर्मी के बीच राष्ट्रीय जनता दल ने सूबे के मुखिया नीतीश कुमार पर एक बार फिर बड़ा हमला बोला है. आरजेडी ने सीएम नीतीश कुमार पूछा है कि बिहार विधानसभा चुनाव में उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे के पीछे छुपने की जरूरत पड़ रही है?

वहीं आरजेडी ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर पूछा, कि सीएम का चुनाव है और एनडीए के सीएम उम्मीदवार ही गायब हैं. पीएम का मुखौटा लगाकर पीएम के पीछे छुपने की ज़रूरत क्यों पड़ रही है? सोच रहे हैं उड़ती चिड़िया को हल्दी लगाने वाले बिहारवासी भ्रमित हो जाएंगे. बिहार को पीछे छुपने वाला प्रपंची सीएम नहीं, मजबूती से आगे रहकर नेतृत्व करने वाला सीएम चाहिए.”

हालांकि इससे पहले लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी इस मुद्दे को लेकर सीएम नीतीश पर हमला बोला था. चिराग ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार में लगातार सात रैलियां कर रहे हैं क्योंकि नीतीश कुमार के नाम पर एक भी वोट नहीं मिलेगा.

साथ ही चिराग पासवान ने कहा था , “पीएम नरेंद्र मोदी खुद बिहार में रैलियां कर रहे हैं और वे बहुत प्रयास कर रहे हैं क्योंकि सभी जानते हैं कि मौजूदा सीएम नीतीश कुमार के नाम पर एक भी बिहारी मतदान नहीं करेगा. प्रधानमंत्री को दो दिनों में सात रैलियां करनी पड़ी क्योंकि नीतीश कुमार बिहार में काफी अलोकप्रिय हैं. मोदी जी बिहार के सीएम की अलोकप्रियता के विकल्प के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं. अन्यथा, पीएम मोदी दिल्ली में बैठे बिहार चुनाव आसानी से जीत सकते थे.”

इसके साथ ही पासवान ने बीजेपी के नेताओं से सवाल भी किया था, कि ऐसे भ्रष्ट मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने बीजेपी के नेता अपना सिर क्यों झुका रहे हैं? ऐसे व्यवहार से उनकी अपनी पार्टी कार्यकर्ता और मतदाता निराश हैं. मुख्यमंत्री खुद जानते हैं कि वह जीतने वाले नहीं हैं.”