अलीगढ़ के नगर पुलिस अधीक्षक अभिषेक ने बताया कि 29 अक्टूबर को एएमयू के छात्र और छात्र नेताओं द्वारा फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ किए गए उग्र प्रदर्शन के मामले में एएमयू छात्रनेता फरहान जुबैरी के द्वारा दिए गए भड़काऊ बयान के मामले में एएमयू छात्र नेता के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

जहां अलीगढ़ में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैन्युअल मैक्रों के धर्म विशेष के खिलाफ बयान के बाद लगातार आक्रोश बढ़ता जा रहा है, जिसके बाद शनिवार को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में एक बार फिर इस मामले को लेकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई है. जिसके बाद एएमयू में विरोध-प्रदर्शन के दौरान मोहम्मद साहब पैगम्बर का अपमान करने वालों का सिर कलम करने की एएमयू छात्र नेताओं द्वारा धमकी दी गई है.

बता दें कि एएमयू में फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ एएमयू छात्र नेताओं के विरोध प्रदर्शन का एक विवादित वीडियो सामने आया है. जिसमें (AIMIM) पार्टी से जुड़े एएमयू छात्र नेता फरहान जुबेरी ने प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा गया कि अगर कोई मुसलमानों का अपमान करेगा तो उसका सिर कलम कर देंगे. वही (AIMIM) छात्र नेता ने कहा कि अगर कोई पैगम्बर मुहम्मद की तरफ कोई एक उंगली भी उठाएगा तो हम लोग उसकी उंगली को तोड़ देंगे और अगर कोई पैगंबर मोहम्मद साहब के तरफ आंख उठा कर देखेगा तो उसकी आंखें निकाल लेंगे. अगर कोई पैगंबर मोहम्मद साहब का अपमान करेगा तो उसका सर कलम कर देंगे.

जिसके बाद इस मामले में अलीगढ़ के थाना सिविल लाइन में 153A और 506 IT एक्ट के तहत एएमयू छात्र के खिलाफ दिए गए भड़काऊ भाषण के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. वहीं अलीगढ़ जिले के नगर पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह द्वारा बताया गया है कि 29 अक्टूबर को एएमयू मे किए गए प्रदर्शन के मामले में एएमयू छात्र और (AIMIM) के छात्र नेता फरहान जुबैरी के खिलाफ फ्रांस के राष्ट्रपति को लेकर दिए गए भड़काऊ बयान के मामले में एफआईआर दर्ज की गई है.