राजस्थान में रविवार से शुरू होने वाला गुर्जर आंदोलन स्थगित हो गया है. कहा जा रहा है कि राज्य सरकार और गुर्जर नेताओं के बीच शनिवार को जयपुर में चली 6 घंटे की बातचीत में सहमति बन गई, और गुर्जर नेताओं की जो मांग थी उसमें से ज्यादातर मांगें मानने का सरकार ने भरोसा दिया है. सरकार 5 फीसदी गुर्जर आरक्षण देने को तयार है.

हालांकि कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा है कि जिन गुर्जर नेताओं से सरकार ने वार्ता की है, वो रविवार सुबह आंदोलन स्थल पीलू पर आकर सरकार से हुई वार्ता के बारे में बातचीत करेंगे और फिर समाज जो फैसला लेगा. उसके साथ हम लोग हैं. हमारी सरकार से कुछ मांगें हैं जिसके लिए हम आंदोलन कर रहे थे और अगर सरकार मांगें मान लेती है तो हम आंदोलन वापस ले लेंगे.

वहीं राज्य सरकार के साथ बैठक में यह तय हुआ है कि गुर्जर आंदोलन के दौरान मारे गए 3 लोगों को पांच लाख रुपये और घर वालों को सरकारी नौकरी दी जाएगी. सरकारी नौकरियों में बैकलॉग में भी गुर्जर आरक्षण का लाभ दिया जाएगा. सरकार के साथ गुर्जर आंदोलन के समय 2011 में जो समझौता हुआ था उसकी पालना की जाएगी और 2018 में जो विशेष पिछड़ा वर्ग के भर्तियों के पद शेष रह गए हैं उन पर भी गुर्जरों को आरक्षण दिया जाएगा. यही नहीं 1,252 पदों पर नियमित वेतनमान श्रृंखला के तहत सरकारी नौकरी विशेष आरक्षण कोटे के तहत दी जाएगी.