बिहार में पहले चरण की वोचटिंग के बीच महगठबंधन ने मुंगेर की घटना को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि मुंगेर की घटना दुखद है, लोगों को पीटा गया. जनरन डायर बनने का अधिकार किसने किया? इसके साथ ही तेजस्वी ने मांग रखी कि मुंगेल घटना की जांच हाई कोर्ट की निगरानी में हो. मुंगेर से एसपी को हटाया जाए. उन्होंने कहा कि लोगों को समझ ही नहीं आया कि हुआ क्या है? बता दें कि मुंगेर में भी पहले चरण की वोटिंग में मतदान हो रहा है. साथ ही तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जो राज्य के गृह मंत्री भी हैं वो क्या कर रहे थे. तेजस्वी ने पूछा कि डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने इस मामले में ट्वीट के अलावे क्या किया है.

साथ ही तेजस्वी ने कहा कि वे इस मामले में सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी से पूछना चाहते हैं कि मुंगेर पुलिस को जनरल डायर बनने की अनुमति किसने दी? तेजस्वी यादव ने कहा कि मुंगेर में नौजवानों को पुलिस ने घेर-घेरकर पीटा है, बेकसूरों पर लाठियां बरसाई गई है. मुंगेर का वीडियो भयावह है. तेजस्वी ने कहा कि बिहार सरकार को ये बताना चाहिए कि पुलिस को क्रूरतापूर्वक लाठियां चलाने की अनुमति किसने दी. गोली चलाने की अनुमति किसने दी? तेजस्वी यादव ने इस मामले की जांच हाई कोर्ट की निगरानी में रिटायर्ड जज से कराने की मांग की है.

वहीं आरजेडी नेता ने मुंगेर की डीएम और एसपी लिपि सिंह को तत्काल हटाने की मांग की है, तेजस्वी ने कहा कि लिपि सिंह एक जेडीयू नेता की बेटी हैं, उन्हें तत्काल हटाया जाए. तेजस्वी ने कहा कि बिहार पुलिस को कहीं न कहीं से जनरल डायर बनने का आदेश जरूर गया है. उन्होंने कहा कि बिहार की कानून व्यवस्था चरमरा गई है.

बता दें कि मुंगेर में मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन करने जा रहे लोगों पर पुलिस ने लाठियां बरसाई थी और फायरिंग की थी. इस घटना में एक युवक की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हो गए थे.