जनपद सम्भल में मानवता को शर्मसार कर देने वाली एक और घटना सामने आई है. जहां पुलिस ने महिला की हत्या के आरोप में मृतक महिला के बेटे और उसके 1 साथी को गिरफ्तार किया है. आरोपी युवक ने मामूली विवाद के चलते 1 महीने पहले जंगल में घास छीलने गई अपनी सगी मां की रस्सी से गला घोंट कर हत्या कर दी थी. पुलिस ने महिला की हत्या के आरोप में उसके के कलयुगी बेटे और उसके साथी को गिरफ्तार जेल भेज दिया है.

बता दें कि जनपद सम्भल के एडिशनल एसपी आलोक जायसवाल ने जानकारी देते हुए बताया है कि असमौली थाना इलाके के हरिपुर मिलक गांव के जंगल में 27 सितंबर को गन्ने के खेत में एक महिला का शव मिला था ,महिला की हत्या रस्सी से गला घोंटकर की गई थी. महिला की ह्त्या की रिपोर्ट मृतक महिला हमसीरन के बेटे इरफ़ान उर्फ़ गुड्डू ने ही असमौली थाने में दर्ज कराई थी. इस घटना की जांच के दौरान मृतक महिला के बेटे इरफ़ान और उसके तहेरे भाई यासीन पुलिस के शक के दायरे में आए थे, जिसके बाद पुलिस ने मृतक महिला के बेटे इरफ़ान और उसके तहेरे भाई यासीन को हिरासत में लेकर सख्ती से पूंछतांछ की तो इरफ़ान ने अपनी मां की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया.

वहीं आरोपी इरफ़ान ने पुलिस को बताया उसकी मां हमसीरन आये दिन उससे झगड़ा करती थी, यह बात उसने अपने तहेरे भाई यासीन को बताई तो यासीन ने रोजाना के विवाद से मुक्ति पाने के लिए मां की हत्या कि सलाह दी ,जिसके बाद दोनों ने हम सीरन की हत्या का प्लान तैयार कर लिया. 27 सितंबर को जब हमसीरन जंगल में घास छील रही थी. उसी दौरान इरफ़ान और यासीन ने पीछे से जाकर हमसीरन की रस्सी से गला घों कर दी और शव को गन्ने के खेत में छिपा दिया. हमसीरन की हत्या के अगले दिन 28 सितंबर को इरफ़ान ने असमौली थाने पहुंचकर अज्ञात के लोगों के खिलाफ अपनी माँ की हत्या का केस दर्ज करा दिया, लेकिन पुलिस ने घटना की बारीकी से तहकीकात कर कलयुगी बेटे इरफ़ान की साजिश को बेनकाब कर उसे और उसके साथी को जेल की सलांखो के पीछे पहुंचा दिया.