बिहार में विधानसभा चुनाव 2020 की तैयारियां जोरो शोरो पर है. चुनाव के मद्दे नजर आरजेडी नेता, और लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव का चुनावी रथ भी तेजी से दौड़ रहा है. बता दें कि रविवार को तेजस्वी यादव ने नवादा में आरजेडी प्रत्याशी के समर्थन में सभा की. जिसमें तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि बिहार की जनता अब नीतीश सरकार से त्रस्त हो चुकी है. बिहार के लोग बदलाव देखना चाहते हैं.

चुनावों को देखते हुए रैली और सभाओं का दौर भी शुरु हो गया, उसी के दौर में तेजस्वी यादव ने नवादा विधानसभा प्रत्याशी विभा देवी और गोविंदपुर विधानसभा क्षेत्र प्रत्याशी मोहम्मद कामरान के पक्ष में साभ की, जिसमें उन्होंने मतदान के लिए लोगों से अपील की. साथ ही इस दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश के कुशासन को हटाना है, ताकि जनता को राहत मिल सके. बिहार की जनता अब नीतीश सरकार से त्रस्त हो चुकी है. अब यहां की जनता बदलाव चाहती है, ताकि लोग बिहार में विकास देख सकें. उन्होंने कहा कि बिहार में बेरोजगारी चरम पर है. हर विभाग में भ्रष्टाचार है. नौजवानों को रोजगार नहीं मिल रहा है.

वहीं नवादा में हुई इस जनसभा में तेजस्वी ने कहा कि सरकार बनी तो 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देंगे. शिक्षकों को स्थायी करेंगे. सामाजिक सुरक्षा पेंशन को बढ़ाकर 400 से एक हजार रुपये प्रतिमाह किया जाएगा. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के कुशासन को हटाना है, तो महागठबंधन प्रत्याशियों को अपना मत देकर विधानसभा पहुंचाना होगा.

साथ ही एक बार फिर बिहार सरकार पर तंज कसते हुए तेजस्वी ने कहा कि 15 साल से बिहार में डबल इंजन की सरकार चल रही है. नीतीश ने 12 करोड़ जनता को ठगा है. शिक्षा, स्वस्थ्य व्यवस्थाएं बिहार में चौपट हैं. बिहार को विशेष राज्य का दर्जा तक नहीं मिल सका. वहीं सभा में गोविन्दपुर प्रत्याशी मो. कामरान व नवादा प्रत्याशी विभा देवी के अलावा रजौली के प्रत्याशी प्रकाश वीर, जिलाध्यक्ष महेन्द्र यादव, अशोक समेत कई नेता मौजूद रहे.