उत्तर प्रदेश के महाराजगंज की अंजलि प्यार में धोखे का शिकार हो गई. अंजलि का आरोप है कि एक मुस्लिम युवक ने उसका जबरन धर्म परिवर्तन करवाकर निकाह कर लिया, परिवार वाले जुल्म ढाने लगे, जब उसकी गुहार कहीं नहीं सुनी गई तो मंगलवार को उसने उत्तर प्रदेश के विधानसभा भवन के सामने खुद को आग लगा ली थी. अब खबर आई है कि अस्पताल में इलाज के दौरान अंजली की मौत हो गई है.

दरसआल लखनऊ में विधानसभा के सामने मंगलवार को एक महिला ने आत्मदाह का प्रयास किया था. महिला ने अपने ऊपर ज्वलनशील पदार्थ डाल कर आग लगा ली थी, जिससे उनका शरीर काफी जल गया था. वही इस 35 वर्षीय महिला का आरोप था कि महाराजगंज के रहने वाले अखिलेश तिवारी से उसकी शादी हुई थी जिसके बाद तलाक हो गया. इसके बाद महिला ने धर्म परिवर्तन कर आसिफ नाम के युवक से शादी कर ली. शादी के बाद आसिफ सऊदी अरब चला गया. और आसिफ के परिजन लगातार महिला को प्रताड़ित कर रहे थे. प्रताड़ना से परेशान होकर महिला ने विधानसभा के सामने ज्वलनशील पदार्थ डालकर खुद को आग  ली. सचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला को सिविल अस्पताल में कराया भर्ती जहां बुधवार को उसकी मौत हो गई.

आत्मदाह के बाद मौत की ये घटना ऐसे वक्त में सामने आई जब महिलाओं से जुड़े अपराध को लेकर यूपी की योगी सरकार और पुलिस आलोचना का सामना कर रही है. खासकर, हाथरस की घटना के बाद सरकार बैकफुट पर है.

बता दें कि विधानसभा भवन के सामने इस तरह का ये पहला मामला नहीं है. इससे पहले एक मां-बेटी ने भी इसी तरह से खुद को जला लिया था. जिसके बाद उनकी मौत हो गई थी. ये मां-बेटी अमेठी की रहने वाली थी. पड़ोसी से नाली को लेकर इनका विवाद हुआ था. मामला थाने तक भी पहुंचा था. लेकिन पुलिस ने मां-बेटी की गुहार पर कोई कार्रवाई नहीं की जिसके बाद वो आला अफसरों से मिलने लखनऊ पहुंची थीं. इसी दौरान दोनों ने विधानसभा के सामने खुद को आग लगी थी. वहां मौजूद मीडियाकर्मियों ने दोनों को बचाने की भी कोशिश की थी, लेकिन दोनों ने बाद में दम तोड़ दिया था.