आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में हुई भारी बारिश की वजह से भारी तबाही हुई है और दोनों राज्यों में मिलाकर अब तक 25 लोगों की जान जा  चुकी है. बारिश का सबसे ज्यादा कहर हैदराबाद में देखने को मिल रहा  है. जहां हैदराबाद के कई हिस्सों में लगातार बारिश की वजह से अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है.

वहीं इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर बताया कि उन्होंने भारी बारिश से परेशान आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के मुख्यमंत्रियों से बात की है और उन्हें हरसंभव मदद करने का भरोसा दिया है. पीएम मोदी ने कहा, ‘भारी वर्षा के कारण तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के चंद्रशेखर राव और वाईएस जगन मोहन रेड्डी से बात की. केंद्र से हरसंभव बचाव और राहत कार्य में मदद तथा सहयोग का आश्वासन दिया है. भारी बारिश से प्रभावित लोगों के के बारे में सोच रहा हूं.’ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी इस आपदा पर दुख जताया है.

तो वहीं दूसरी तरफ, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने अधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने और राहत शिविरों में शरण लेने वाले लोगों को हरसंभव मदद देने का निर्देश दिया और शिविर में प्रत्येक व्यक्ति को 500 रुपये देने की घोषणा की गई है.

बता दें कि चक्रवाती तूफान के कारण भारी बारिश और बाढ़ से उत्पन्न स्थिति पर बुधवार को अमरावती में एक समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री रेड्डी ने जिला प्रशासन को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पर्याप्त उपाय करने का निर्देश दिया. साथ ही बाढ़ राहत शिविरों में शरण लेने वाले प्रत्येक व्यक्ति को 500 रुपये की तत्काल राहत देने का ऐलान किया है. सिकंदराबाद में बंगाल की खाड़ी में बने डिप्रेशन की वजह से पिछले दो दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश से हैदराबाद के कई रिहायशी इलाकों में पानी भर गया है. लोगों को बचाने के लिए राज्य सरकार के साथ सेना भी मुहिम में जुड़ गई है.