बिहार में विधानसभा चुनाव का आज ऐलान हो सकता है. चुनाव आयोग आज दोपहर 12.30 बजे विज्ञान भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 243 विधानसभा सीटों पर चुनाव की तारीखों का एलान कर सकता है. जानकारी के मुताबिक, तीन से चार चरणों में बिहार विधानसभा चुनाव हो सकता है. इसकी वजह ये है कि 2015 बिहार चुनाव में 72 पोलिंग स्टेशन थे, लेकिन इस बार चुनाव आयोग करीब एक लाख छह हजार पोलिंग स्टेशन बनाने की तैयारी कर रहा है. कोरोना काल चल रहा है, ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रखना होगा.

इतना ही नहीं चुनाव के दौरान एक लाख 80 हजार से ज्यादा लोगों की तैनाती की जाएगी, जो पिछले चुनाव की तुलना में इस बार कई ज्यादा होगी. इसके साथ ही एक पोलिंग स्टेशन पर वोट देने के लिए पहुंचने वाले लोगों की संख्या भी सीमित की जाएगी.

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव, देश के लोकतांत्रिक इतिहास में सबसे अलग, अनूठे और चुनौतीपूर्ण होंगे. कोरोना संकट के कारण पहले तो विधानसभा चुनाव कराने का विरोध सभी विपक्षी पार्टियों ने किया, लेकिन जब निर्वाचन आयोग ने दृढ़ता से कहा कि चुनाव तय समय पर ही होंगे तो सब तैयारियों में जुट गए.

वहीं कोरोना संकट आने के बाद देश में ये पहला चुनाव है लिहाजा निर्वाचन आयोग ने कोविड प्रोटोकॉल के मुताबिक, गाइडलाइन्स भी जारी की है. मतदान केंद्रों की तादाद भी डेढ़ गुना से ज्यादा बढ़ा दी गई है. मतदान कर्मियों की संख्या भी बढ़ाई गई है जबकि हर मतदान केंद्र पर मतदाताओं की तादाद घटा कर संख्या सीमित कर दी गई है.

सभी मतदान केंद्रों पर मतदाताओं को मास्क लगाकर और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करके आने को कहा गया है, लेकिन एहतियातन हरेक मतदान केंद्र पर मास्क, हैंडफ्री सेनेटाइजिंग और शरीर का तापमान मापने के इंतजाम किए जा रहे हैं. मतदान शुरू होने से पहले बूथ को पूरी तरह से सैनिटाइज कर डिसइनफेक्ट करने की भी सख्त हिदायत दी गई है.