उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के अंदर लूट की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही है। जहां आज से कुछ दिन पहले थाना बन्नादेवी क्षेत्र के अंदर बाइक सवार तीन बदमाशों द्वारा तमंचे की नोक पर सर्राफा व्यापारी के यहां से 35 लाख की लूट की घटना को अंजाम दिया गया था । वहीं शहर के अंदर हो रही बड़ी घटना होने के बावजूद भी पुलिस प्रशासन खुलासा नहीं कर पा रहे हैं। जिसके बाद अलीगढ़ के एसएसपी चोरी लूट और हत्या की घटनाओं और बढ़ते अपराध को रोकने में नाकाम साबित हो रहे हैं।

वहीं एक बार फिर अलीगढ़ के थाना सिविल लाइन क्षेत्र के समद रोड पर मंगलम कंपलेक्स पर बने शोरूम किंग्स मोबाइल पॉइंट की दुकान को चोरों द्वारा निशाना बनाते हुए करीब 20 से 25 लाख के मोबाइल की चोरी की घटना को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए। और अलीगढ़ पुलिस प्रशासन मूकदर्शक बन बैठा रहा। 1 मिनट 14 सेकेंड के इस सीसीटीवी फुटेज के अंदर चोरों द्वारा पच्चीस लाख रुपए की चोरी की घटना को अंजाम देते हुए नजर आ रहे हैं

दरअसल अलीगढ़ के थाना सिविल लाइन क्षेत्र के समद रोड पर मंगलम कांपलेक्स के अंदर किंग्स मोबाइल पॉइंट के नाम से मोबाइल का शोरूम है। जिस शोरूम के अंदर शुक्रवार सुबह करीब 4:30 बजे तीन चोरों द्वारा दुकान के अंदर घुस का 20 से 25 लाख रुपए की चोरी की घटना को अंजाम देकर चोर मौके से फरार हो गए। वहीं दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे के अंदर चोरों द्वारा की गई चोरी की घटना कैद हो गई। समद रोड पर देर रात हुई चोरी की सूचना मिलते ही नगर पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह भारी पुलिस बल और फॉरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंचए और साक्ष्य इकट्ठा करते हुए। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चोरी की घटना को अंजाम देने वाले चोरों को जल्द गिरफ्तार करने की बात कह रहे हैं।

वहीं पीड़ित परिजनों का कहना है कि देर रात करीब 9:30 बजे पिता पुत्र और स्टाफ दुकान बंद करने के बाद अपने अपने घरों को चले गए थे। आज सुबह जब दुकान मालिक 10:30 बजे के करीब दुकान पर पहुंचे तो उन्हें दुकान का शटर कटा हुआ मिला। जिसकी सूचना शॉप ओनर को फोन पर दी गई। दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे का चोरों द्वारा तार तोड़ दिया गया। जिसके बाद पुलिस को 100 नंबर पर सूचना दी गई।

अलीगढ़ के नगर पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने जानकारी देते हुए। बताया कि सुबह के करीब 4:30 बजे दुकान के अंदर चोर चोरी करने के लिए घुसे थे। जिसके बाद करीब 80 से 90 के बीच स्मार्टफोन चोरी करके ले गए। फॉरेंसिक टीम के द्वारा साक्ष्य जुटाए जा रहे है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जल्दी चोरी की घटना का खुलासा करते हुए अवगत कराया जाएगा।